Hindi News »Haryana »Hisar» डॉ. चंद्रा ने रखी छात्रावास के डायनिंग हाॅल की आधारशिला

डॉ. चंद्रा ने रखी छात्रावास के डायनिंग हाॅल की आधारशिला

राज्यसभा सांसद डाॅ. सुभाष चंद्रा ने संत कबीर छात्रावास के डायनिंग हाॅल (भोजनालय हाल) की आधारशिला रखी। सांसद ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 04:05 AM IST

राज्यसभा सांसद डाॅ. सुभाष चंद्रा ने संत कबीर छात्रावास के डायनिंग हाॅल (भोजनालय हाल) की आधारशिला रखी। सांसद ने बताया कि इस डायनिंग हाॅल के निर्माण पर लगभग 33 लाख रुपए की राशि खर्च होगी।

उन्होंने कहा कि वही समाज विकास के पथ पर आगे बढ़ता है, जो अधिक शिक्षित होगा। इसलिए जरूरी है कि समाज के लोगों को चाहिए कि वे अपने बच्चों को अधिक से अधिक शिक्षित करें। शिक्षा न केवल स्वयं को आगे बढ़ने का अवसर प्रदान करती है, बल्कि किसी भी समाज व देश की बुनियाद शिक्षा ही है। उन्होंने कहा कि हर व्यक्ति को चाहिए कि वे अपने बच्चों को उच्च शिक्षा ग्रहण करवाए, ताकि वे अच्छे नागरिक बनकर समाज व देश की तरक्की में अपना योगदान दे सकें।

इस अवसर पर संत कबीर छात्रावास संस्था के प्रधान जोगी राम खुंडिया, संरक्षक रोशनलाल, चतर सिंह, रविदास सभा के प्रधान जयपाल रंगा, अंबेडकर सभा के प्रधान उदयभान चोपड़ा, इंद्राज भारती, मियां सिंह, बिजेंद्र सभ्रवाल, देशराज कंबोज, र| कुमार बड़ गुर्जर, कैप्टन तुला राम, ओमप्रकाश डाबला, पृथ्वी सिंह, प्रीतम पटवारी, महेंद्र सिवान, सुंदर सिंह नागर, गुगन राम इंदौरा , प्रह्लाद सोलंकी, संजय सिंह, श्रीनिवास खुंडिया, पन्ना लाल खुंडिया, साधु राम, विक्रांत बागड़ी, रोहताश, शमशेर खनगवाल उपस्थित थे।

ड्रेन पर कवरिंग पुल का भी उद्घाटन किया

इससे पहले डाॅ. सुभाष चंद्रा ने श्मशान घाट के सामने बरसाती पानी की ड्रेन पर निर्मित कवरिंग पुल का उद्घाटन किया। इस पुल पर लगभग 25 लाख रुपए की लागत आई है। यह कवरिंग पुल 388 फुट लंबा व 19 फुट चौड़ा बनाया गया है। उन्होंने कहा कि ड्रेन पर कवरिंग पुल होने से यहां स्वच्छता रहेगी और आमजन को भी सुविधा होगी। इस अवसर पर पीडब्ल्यूडी बी एंड आर के अधिकारी व श्मशान घाट सुधार समिति के सदस्य उपस्थित थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hisar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×