हिसार

  • Hindi News
  • Haryana
  • Hisar
  • दो साल में भी खर्च नहीं कर पाए स्वच्छता की राशि
--Advertisement--

दो साल में भी खर्च नहीं कर पाए स्वच्छता की राशि

नगर निगम प्रशासन शहर में सेग्रीगेशन की शुरू करने जा रहा है। इसके लिए नगर निगम प्रशासन ने 10 ई-रिक्शा खरीदी है।...

Dainik Bhaskar

Apr 01, 2018, 04:10 AM IST
दो साल में भी खर्च नहीं कर पाए स्वच्छता की राशि
नगर निगम प्रशासन शहर में सेग्रीगेशन की शुरू करने जा रहा है। इसके लिए नगर निगम प्रशासन ने 10 ई-रिक्शा खरीदी है। जिनमें सूखा व गिला कचरा अलग-अलग संग्रहण किया जाएगा। करीब दो साल बाद स्वच्छ भारत मिशन के तहत निगम निगम प्रशासन ने ई-रिक्शा खरीदने की शुरुआत तो की लेकिन उसमें भी कमियां रख दी हैं। 40 ई-रिक्शा खरीदने का प्रपोजल था जबकि मात्र 10 खरीदी की गई है। वह भी ट्रायल पर लाने की बात कही जा रही है। ट्रायल सफल रहा तो आगामी समय में इनकी संख्या बढ़ाकर 40 की जाएगी।

बजट सत्र के अंत में खरीदी 10 ई-रिक्शा

मेयर ने क्लास लगाई तो अधिकारियों को 1.56 करोड़ की राशि आई याद

स्वच्छ भारत मिशन के तहत फरवरी 2016 में 1.56 करोड़ की ग्रांट जारी हुई थी। जिसे निगम अधिकारी भूल बैठे थे। जिस कारण स्वच्छ सर्वेक्षण में हिसार की रैंकिंग प्रभावित हुई। ऐसे में मेयर शकुंतला राजलीवाला ने अधिकारियों की क्लास लगाई तो इस राशि से वाहन खरीदने व अन्य कार्यों में खर्च की प्रक्रिया आगे बढ़ाई गई। इसके अलावा मेयर ने जब इस राशि के खर्च का ब्यौरा मांगा तो लंबे समय तक अधिकारियों ने जानकारी दी। आखिरकार मेयर को बैठक में जवाब तलब करना पड़ा।

नगर निगम में खड़ी ई-रिक्शा।


X
दो साल में भी खर्च नहीं कर पाए स्वच्छता की राशि
Click to listen..