• Home
  • Haryana
  • Hisar
  • ऑडिट टीम सिटी सब डिविजन के 30 हजार बिजली मीटरों का डेटा खंगालेगी
--Advertisement--

ऑडिट टीम सिटी सब डिविजन के 30 हजार बिजली मीटरों का डेटा खंगालेगी

शहर के एक होटल व बार के मीटर जलाने व उपभोक्ता के बिल में डिडक्शन करने के मामले में बिजली निगम के उच्च अधिकारियों ने...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 04:10 AM IST
शहर के एक होटल व बार के मीटर जलाने व उपभोक्ता के बिल में डिडक्शन करने के मामले में बिजली निगम के उच्च अधिकारियों ने स्पेशल ऑडिट करवाने के लिए जींद से एकाउंट टीम को बुलाया है। एकाउंट आॅफिसर पूरे सिटी सब डिविजन का रिकॉर्ड खंगालेगी। बिजली निगम के चीफ इंजीनियर ने सिटी की 30 हजार एंट्री चेक करने के निर्देश दिए हैं। अंदेशा जताया जा रहा है कि एकाउंट में गड़बड़ी के कई और मामले सामने आ सकते हैं। इसके चलते ही एकाउंट ऑफिसर को जांच के लिए लगाया गया है।

भास्कर फॉलोअप

मीटर जलवा बिल कम करवाने का मामला

जींद से दो सदस्यीय टीम पहुंची

सिटी सब में इस तरह की करीब 30 हजार एंट्रीज हैं। टीम सदस्यों का कहना है कि एक-एक एंट्री को चेक करना लंबा काम है। जब तक पूरी तरह से जांच नहीं होगी काम चलता रहेगा। वे तब तक यहां से नहीं जाएंगे, जब तक एक-एक एंट्री की जांच न की जा सके। इन एंट्री में ये जांचा जाएगा कि कहीं अन्य एंट्री में तो गड़बड़ नहीं की गई है।

यह है मामला : बता दें कि बिजली निगम के दो जेई, दो एलडीसी व एक लाइनमैन सहित दो उपभोक्ताओं पर एक्सईएन विजेंद्र लांबा ने केस दर्ज करवाया था। आरोप है इन स्टाफ सदस्यों ने उपभोक्ताओं के साथ मिलकर उनके बिलों पर कटौती कर दी और साजिश के तहत मीटर जलवा दिए। शहर की रेड स्क्वेयर मार्केट स्थित एक होटल व सेक्टर 14 की बार के कई बार मीटर की डिस्प्ले जला कर बदलवाए गए। बिजली निगम को बार से 5 लाख 66 हजार रुपए का राजस्व का घाटा भी लगा।