Hindi News »Haryana »Hisar» बल-बुद्धि के दाता हैं हनुमान : स्वामी त्रयम्बकेश्वर चैतन्य महाराज

बल-बुद्धि के दाता हैं हनुमान : स्वामी त्रयम्बकेश्वर चैतन्य महाराज

हिसार | नागोरी गेट स्थित श्री हरियाणा कुरुक्षेत्र सनातन धर्म हनुमान मंदिर में हनुमान जयंती पर पांच दिवसीय...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 04:10 AM IST

बल-बुद्धि के दाता हैं हनुमान : स्वामी त्रयम्बकेश्वर चैतन्य महाराज
हिसार | नागोरी गेट स्थित श्री हरियाणा कुरुक्षेत्र सनातन धर्म हनुमान मंदिर में हनुमान जयंती पर पांच दिवसीय श्रीसुंदरकाण्ड कथा आरंभ हुई। प्रवचन देते हुए वृंदावन धाम के स्वामी त्रयम्बकेश्वर चैतन्य महाराज ने अंजनी माता के पूर्व जन्म की कथा का श्रवण करवाते हुए कहा कि ये पूर्व जन्म में देवराज इन्द्र के दरबार में अप्सरा थी, जिनका नाम पूंजीकस्थला था। एक तपस्वी ऋषि के साथ अभद्रता के कारण ऋषि ने वानरी होने का श्राप दिया, श्राप से भयभीत चरणों मे गिरकर क्षमा मांगने पर ऋषि ने वीर पुत्र होने का वरदान दिया। यही पुत्र हनुमानजी के रूप में प्रकट हुए। स्वामी त्रयम्बकेश्वर चैतन्य महाराज ने कहा कि हनुमानजी की वीरता के अनेक किस्से रामायण में हैं। बल-बुद्धि के दाता हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hisar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×