Hindi News »Haryana »Hisar» Five Witness Called Satlok Case

सतलोक मामला : केस नंबर-429 मेंं पांच गवाह बुलाए, दो डाॅक्टरों एक SI की हुई गवाही

बरवाला के सतलोक आश्रम प्रकरण में हत्या के मुकदमा नंबर 429 की सुनवाई अतिरिक्त सेशन जज अजय पराशर की अदालत में हुई।

Bhaskar News | Last Modified - Nov 14, 2017, 06:13 AM IST

सतलोक मामला :  केस नंबर-429 मेंं पांच गवाह बुलाए, दो डाॅक्टरों एक SI की हुई गवाही

हिसार। बरवाला के सतलोक आश्रम प्रकरण में हत्या के मुकदमा नंबर 429 की सुनवाई अतिरिक्त सेशन जज अजय पराशर की अदालत में हुई। सोमवार को सुनवाई के लिए सेंट्रल जेल वन में अदालत लगी। अदालत में ट्रायल के दौरान प्रकरण में 5 गवाह बुलाए गए थे, लेकिन तीन गवाहों की ही गवाही हो सकी। इस दौरान रामपाल की वीसी के जरिये पेशी हुई, जबकि मुकदमे में अन्य 14 आरोपियों को पुलिस ने अदालत के समक्ष पेश किया। इनमें से आरोपी सावित्री, पूनम और बबिता जमानत पर चल रही हैं।


बरवाला सतलोक आश्रम प्रकरण को लेकर अदालत में मुकदमा संख्या 429 में बच्चे महिला सहित पांच लोगों की मौत का मामला है। इस मामले में रामपाल सहित 15 आरोपित हैं। अदालत में 5 गवाह बुलाए गए थे। इन तीन गवाह एसआई कर्णपाल, डाॅ. मोनिका एवं डाॅ. राजीव की गवाही हुई। अदालत में रामपाल के अधिवक्ता महेंद्र सिंह एवं अन्य अधिवक्ताओं ने गवाहों से जिरह की। अदालत ने अगली सुनवाई के लिए 8 जनवरी की तिथि तय की है।
रामपाल की पेशी के दौरान सोमवार को टाउन पार्क एवं उसके आसपास सैकड़ों की तादात में समर्थक डेरा डाले रहे। सुबह से पुलिस की टीमेंं टाउन पार्क के अलावा रेलवे स्टेशन पर अलर्ट रहीं। रामपाल के अधिकांश समर्थक ट्रेन के जरिये ही हिसार पहुंचते हैं। भले ही पुलिस की ओर से रामपाल के समर्थकों को शहर में प्रवेश की इजाजत हो, मगर बावजूद इसके सैकड़ों समर्थक पेशी के दौरान जुट जाते हैं। टाउन पार्क और उसके आसपास के इलाके में देखे गए।


ये हैं मुकदमा नंबर 429 में आरोपी
मुकदमासंख्या 429 में रामपाल के अलावा सावित्री, पूनम, बबिता, योगेंद्र, बिजेंद्र, प्रीतम उर्फ राजकपूर, राजेंद्र, सत्यवीर सिंह, सोनूराम, देवेंद्र, जगदीश, सुखवीर, खुशाल सिंह, अनिल शामिल हैं। इसमें पूनम, बबिता और सावित्री जमानत पर बाहर हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Hisar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×