• Home
  • Haryana
  • Hisar
  • ब्राह्मणों से सीएम ने मांगी माफी एचएसएससी चेयरमैन सस्पेंड
--Advertisement--

ब्राह्मणों से सीएम ने मांगी माफी एचएसएससी चेयरमैन सस्पेंड

भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा हुडा के जूनियर सिविल इंजीनियर पद की परीक्षा में ब्राह्मणों पर पूछे विवादित...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 03:05 AM IST
भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा

हुडा के जूनियर सिविल इंजीनियर पद की परीक्षा में ब्राह्मणों पर पूछे विवादित प्रश्न पर गुरुवार को सीएम मनोहर लाल ने समाज के लोगाें से सार्वजनिक रूप से माफी मांगी। उन्होंने ब्राह्मण समाज के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ हरियाणा निवास पर सुबह 11:20 बजे बैठक की, जो एक घंटे तक चली। इस दौरान हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग (एचएसएससी) के चेयरमैन भारत भूषण भारती को सस्पेंड करने का फैसला लिया गया। परीक्षा के पेपर तैयार करने वाली कंपनी पर एफआईआर दर्ज होगी। प्रकाशक को ब्लैक लिस्ट कर दिया है। पुलिस के अलावा एक उच्च स्तरीय आयोग से भी मामले की जांच कराई जाएगी। जो दोषी पाया जाएगा, उस पर कार्रवाई होगी। भारत भूषण भारती ने कहा कि जांच में सहयोग किया जाएगा।

इधर, हिसार में रोड शो से पहले युवक ने सीएम पर फेंका काला तेल, देवीलाल जिंदाबाद के लगाए नारे, गिरफ्तार

हिसार | हिसार में रोड शो से पहले सीएम मनोहर लाल पर गुरुवार को एक युवक ने काला तेल फेंक दिया। इसके बाद युवक ने देवीलाल जिंदाबाद के नारे लगाए। घटना के बाद कार्यकर्ताओं ने उसे पकड़ लिया और पिटाई की। उसे पुलिस के हवाले कर दिया। काले तेल से सीएम के कपड़े खराब हो गए। कुछ छींटे चेहरे पर भी लगे। सीएम रोड शो के पहले श्रीदेवी भवन मंदिर गए थे, जहां यह घटना हुई। इसके बाद वे मंदिर परिसर के अंदर चले गए। युवक की शिनाख्त प्रवीण के रूप में की गई है, जो आदमपुर क्षेत्र के जाखौद खेड़ा गांव का निवासी है। पुलिस उससे थाने में पूछताछ कर रही है। वह मंदिर में भाजपा कार्यकर्ता बनकर आया था। घटना के बाद सीएम की सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है। सीएम ने कहा कि बौखलाने वाले बौखलाएंगे, जनता हमारे साथ रहनी चाहिए। ऐसे बौखलाने वाले लोगों को हम देख लेंगे। उधर, इनेलो प्रवक्ता एडवोकेट मनदीप बिश्नोई ने कहा कि युवक इनेलो का वर्कर नहीं है। इससे पार्टी का कोई लेना-देना नहीं है।

आरोपी प्रवीण।

लापरवाही मिली तो एग्जामिनर पर भी होगी कार्रवाई

बैठक में प्रदेशभर से आए ब्राह्मण समाज के लोगों के साथ शिक्षा मंत्री रामबिलास शर्मा, राज्यसभा सांसद डीपी वत्स, विधायक टेकचंद चंद शर्मा, मूलचंद शर्मा, नरेश कौशिक, दिनेश कौशिक और बोर्ड व निगम के कई चेयरमैन भी थे। सीएम ने ज्ञापन में रखी गई दोनों मांगे मान लीं। बैठक के बाद रामबिलास शर्मा ने बताया कि जांच में मुख्य एग्जामिनर की लापरवाही सामने आई तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। उधर, ब्राह्मण समाज से जुड़े हरिराम शर्मा ने कहा कि सीएम ने हमारी मांगें मान ली हैं, इससे संतुष्ट हैं। समाज सोनीपत समेत अन्य जगह जो धरने चल रहे हैं, उन्हें समाप्त करेगा। आगे के प्रोग्राम भी रद्द कर दिए हैं।

ये है मामला

एचएसएससी की ओर से 10 अप्रैल को हुडा के जूनियर इंजीनियर सिविल पद के लिए परीक्षा ली गई थी। परीक्षा में प्रश्न नंबर-75 में पूछा गया था कि हरियाणा में कौन-सा अपशकुन नहीं माना जाता है? विकल्प में खाली घड़ा, फ्यूल भरा कास्केट, काले ब्राह्मण से मिलना, ब्राह्मण कन्या को देखना दिया गया था। सही उत्तर ‘ब्राह्मण कन्या को देखना’ दिया गया था। इस पर ब्राह्मण समाज के लोगों में रोष था।

आगे क्या : भर्ती प्रक्रिया प्रभावित हो सकती हैं

जांच में जो दोषी पाया जाएगा, उन्हें भी केस में शामिल किया जाएगा। यदि चेयरमैन दोषी पाए गए तो उन पर भी एक्शन लिया जा सकता है। आयोग के सीनियर मेंबर को कार्यवाहक चेयरमैन बनाया जा सकता है। कई भर्तियों की प्रक्रिया प्रभावित हो सकती है।


-बलदेव राय महाजन, एडवोकेट जनरल, हरियाणा