• Home
  • Haryana
  • Hisar
  • नई पेंशन स्कीम के विरोध में सर्व कर्मचारी संघ करेगा सत्याग्रह अनशन
--Advertisement--

नई पेंशन स्कीम के विरोध में सर्व कर्मचारी संघ करेगा सत्याग्रह अनशन

हिसार | हरियाणा में 2006 के बाद भर्ती हुए कर्मचारियों को दी जाने वाली नई पेंशन के विरोध में सर्व कर्मचारी संघ के...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 04:10 AM IST
हिसार | हरियाणा में 2006 के बाद भर्ती हुए कर्मचारियों को दी जाने वाली नई पेंशन के विरोध में सर्व कर्मचारी संघ के कार्यकर्ता 20 मई से पारिजात चौक पर सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक सत्याग्रह अनशन करेंगे। इसके बाद अनशन स्थल से प्रदर्शन करते हुए राज्यसभा सांसद डॉ. सुभाष चंद्रा को उनके आवास पर ज्ञापन सौंपेंगे।संघ के जिला सचिव अनिल शर्मा, सह सचिव नरेश गौतम ने बताया कि एक सरकारी कर्मचारी 30 से 35 साल तक अपनी सरकार व जनता को अपनी सेवाएं प्रदान करता है। सरकार अपनी सामाजिक सुरक्षा के दायित्व के कारण उसको व उसके परिवार के गुजारे, भरण-पोषण के लिए रिटायरमेंट के बाद पेंशन देती रही है। 2006 में प्रदेश सरकार ने कर्मचारियों को दी जाने वाली सामाजिक सुरक्षा से अपने हाथ खिंचते हुए केंद्रीय सरकार द्वारा तय अंशदायी पेंशन स्कीम लागू कर दी। इसके तहत कर्मचारी के मूल वेतन में से 10 फीसदी राशि प्रतिमाह कटौती की जाती है, कर्मचारी की उक्त राशि “पेंशन फंड रेगुलेटरी डेवलेपमेंट ऑथोरिटी द्वारा अधिकृत बैंक को उक्त राशि ट्रांसफर की जाती है। कर्मचारी की जमा राशि का 40 फीसदी पैसा शेयर बाजार में लगाने का प्रावधान है। शेयर बाजार के घाटे का नुकसान कर्मचारी को ही वहन करना पड़ता है। यह कर्मचारी के साथ अमानवीय ज्यादती है।

कर्मचारी नेताओं ने कहा कि कर्मचारी, विधायक, सांसद एक ही सरकारी खजाने से वेतन लेते हैं, लेकिन यह नई पेंशन सिर्फ कर्मचारियों पर ही लागू की गई है। सिर्फ 6 माह विधायक, सांसद रहने पर ताउम्र उनको व उनके परिवार को पेंशन मिल सकती है। अगर कोई दो बार या तीन बार इससे भी ज्यादा बार निर्वाचित होता है उसको उतनी बार के हिसाब से यानी कि जितनी बार चुना जाता है। हर बार अलग अलग पीरियड की पेंशन मिलती है, जबकि बुढ़ापे की दहलीज पर रिटायर्ड कर्मचारी को पेंशन से वंचित कर दिया गया है।

20 मई से पारिजात चौक पर सुबह 9 से दोपहर 3 बजे तक धरना देंगे, फिर सांसद चंद्रा के आवास पर ज्ञापन सौंपेंगे