• Hindi News
  • Haryana
  • Ismailabad
  • कुदरत का कहर : तूफान से पोल्ट्री फार्म ढहा, 10 हजार मुर्गी के बच्चे मरे
--Advertisement--

कुदरत का कहर : तूफान से पोल्ट्री फार्म ढहा, 10 हजार मुर्गी के बच्चे मरे

Ismailabad News - शुक्रवार देर शाम आए तूफान के चलते क्षेत्र में काफी नुकसान हुआ। इस तूफान में कस्बे व क्षेत्र में बिजली के खंभे व कई...

Dainik Bhaskar

Jun 03, 2018, 04:10 AM IST
कुदरत का कहर : तूफान से पोल्ट्री फार्म ढहा, 10 हजार मुर्गी के बच्चे मरे
शुक्रवार देर शाम आए तूफान के चलते क्षेत्र में काफी नुकसान हुआ। इस तूफान में कस्बे व क्षेत्र में बिजली के खंभे व कई पेड़ जड़ से उखड़ कर सड़कों पर गिर गए। इसके चलते यातायात बाधित रहा। शनिवार को जाकर पूरी तरह पेड़ रास्तों से हटाए गए। तूफान के बाद ग्रामीणों ने बड़ी मशक्कत के बाद पेड़ों को थोड़ा साइड में कर आने जाने वाले रास्तों को खोला था। जबकि शनिवार को पेड़ हटाए गए। वहीं बिजली सप्लाई के खंभे उखड़ने से करीब 15 गांव में बिजली सप्लाई लगभग ठप रही। समाचार लिखे जाने तक बिजली सुचारू नहीं हो पाई थी। तूफान से कस्बे के छप्परा रोड पर स्थित पोल्ट्री फार्म ढह गया है। इसमें करीब 10 हजार मुर्गी के बच्चे दब कर मर गए । पोल्ट्री फार्म की छत के एकाएक ढह जाने से नौंच निवासी सुशील कुमार भी नीचे दब गया था। ग्रामीणों ने उसे बाहर निकाला। पता चलने पर नायब तहसीलदार केके ढुल्ल, कानूनगो जसबीर सिंह, अतिरिक्त थाना प्रभारी धर्मपाल, सरपंच संजीव अरोड़ा आदि ने मौके का मुआयना किया। फार्म के नीचे दबे सुशील को निकालने के लिए जेसीबी मशीन मंगवानी पड़ी। नितेश गर्ग इस्माइलाबाद वासी व सुशील कुमार और विकास कुमार निवासी छप्परा ने ठेके पर लिया है। इसी तरह छप्परा रोड पर पुपनेजा राइस मिल और शिव शंकर राइस मिल की छत से टीन की चादरें उड़ गई। वहीं गांव झांसा में अंधड़ की वजह से बिजली सप्लाई शनिवार शाम तक ठप रही।

छत के नीचे दबे व्यक्ति को निकालने में जुटे लोग।

X
कुदरत का कहर : तूफान से पोल्ट्री फार्म ढहा, 10 हजार मुर्गी के बच्चे मरे
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..