Hindi News »Haryana »Jagadhari» भारत बंद पर बसपा को लेकर दलित संगठनों में मतभेद

भारत बंद पर बसपा को लेकर दलित संगठनों में मतभेद

एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के आए फैसले के विरोध में दो अप्रैल को प्रस्तावित भारत बंद को लेकर दलित संगठनों में...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:00 AM IST

भारत बंद पर बसपा को लेकर दलित संगठनों में मतभेद
एससी-एसटी एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट के आए फैसले के विरोध में दो अप्रैल को प्रस्तावित भारत बंद को लेकर दलित संगठनों में मतभेद सामने आ रहे हैं। विरोध में बहुजन समाज पार्टी के शामिल होने की वजह से भारतीय युवा संगठन ने बंद से अलग होने का फैसला किया है। उधर डॉ. बीआर अंबेडकर संघर्ष समिति ने भी बंद के दौरान सड़कों पर उतरने से मना कर दिया है। घर पर बैठकर ही समिति से जुड़े लोग बंद का समर्थन करेंगे। दूसरी ओर बंद के दौरान सरकारी विभागों में कार्यरत दलित कर्मचारियों ने सामूहिक अवकाश लेने का ऐलान कर दिया है। फिलहाल बंद को लेकर पुलिस भी संतर्क हो गई है।

एससी-एसटी एक्ट पर आए फैसले के विरोध में शुक्रवार को शहर की सड़कों पर हुए विरोध प्रदर्शन में भारतीय युवा संगठन से जुड़े युवाओं ने भी हिस्सा लिया था। प्रस्तावित बंद को लेकर शनिवार को डीसी ऑफिस के प्रांगण में संगठन के पदाधिकारियों की मीटिंग हुई। जिसकी अध्यक्षता रविंद्र वागले ने की। वागले ने कहा कि शुक्रवार को संगठन के हजारों युवा कन्हैया साहिब चौक पर एकत्रित हुए थे। पर बसपा के 150-200 लोगों ने अपनी राजनीति करने के लिए जबरन मंच पर कब्जा कर लिया।

वागले ने कहा कि यह कोई राजनीतिक मंच नहीं था। फिर भी बसपा के नेता समाज को लेकर राजनीति करते रहे। उन्होंने कहा कि अब वे भारत बंद में हिस्सा नहीं लेंगे। उनके साथ कोई अप्रिय घटना न हो इसलिए सभी सदस्य सामूहिक अवकाश लेकर घर पर ही रहेंगे। छह अप्रैल के बाद इस मुद्दे को लेकर बड़े आंदोलन की तैयारी की जाएगी। मौके पर संगठन के अमर सिंह, राकेश कुमार, अमरनाथ, सुरजीत कुमार, रिटायर्ड डीएसपी फूल सिंह, रोशनलाल नागरा, प्रदीप कुमार एडवोकेट, गुलशन कुमार, गगनदीप सिंह, दिलीप, शेखर, चेतन प्रजापति, सुरेंद्र, अरविंद,मुनसब, गौरव लूथरा, चमन, विकास रावत, सोहन, सुदर्शन राठौर, विपिन भी मौजूद थे।

हम जबरन दुकानें बंद नहीं करवाएंगे. डॉ. बीआर अंबोडकर संघर्ष समिति के चेयरमैन ब्रह्मचारी कंवरपाल ने भी साफ कहा कि उनकी समिति से जुड़ा कोई सदस्य सड़क पर उतरकर भारत बंद का समर्थन नहीं करेगा। न ही वे जबरन किसी की दुकान बंद करवाएंगे। कंवरपाल ने कहा कि सबके सहयोग से हम भारत बंद का समर्थन कर रहे हैं।

एकजुट होकर करेंगे विरोध प्रदर्शन: उधर दलित संगठन आदवंशी भीमसेना की अगुवाई कर रहे विक्की बांगड़ ने कहा कि भारत बंद के दौरान जगाधरी की अनाजमंडी पर दलित युवा एकजुट होकर सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर विरोध जताएंगे। साथ ही चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा व पीएम नरेंद्र मोदी के पुतले भी जलाएंगे।

यमुनानगर | जानकारी देते राजिंदर वाल्मीकि।

दुकानदार-व्यापारी करें सहयोग: वाल्मीकि

पूर्व पार्षद राजेंद्र वाल्मीकि ने कहा कि अगर व्यापारी व दुकानदार इस दिन अपनी दुकानें बंद रखेंगे तो दलितों के विरोध का असर केंद्र सरकार पर होगा। मौके पर पार्षद अजय बिल्लू, सन्नी लोहट, रिंकू गागट, सुरेंद्र सोहना, बिजेश पुहाल, ओमप्रकाश व अनिल गौरी भी मौजूद थे।

बाइकों पर निकले युवा

भारत बंद को लेकर दलित समाज के समर्थन के लिए शनिवार को बड़ी संख्या में युवा मोटरसाइकिल पर सवार होकर निकले। भंभौली के रिंकू बराड़ की अगुवाई में शुरू हुआ युवाओं का काफिला कई गांवों से होकर निकला। काफिले में शामिल भंभौली के काका, भूरा, मनोज कुमार, पृथी के माजरा के पवन कुमार, हरपाल संह, राजबीर, जनक का माजरा के पवन कुमार ने ग्रामीणों से प्रस्तावित बंद में ग्रामीणों से बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने का आग्रह किया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jagadhari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×