• Hindi News
  • Haryana News
  • Jagadhari
  • किसान बोले- समर्थन मूल्य नहीं, स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू हो व्यापारी बोले- मेटल और प्लाइवुड के लिए
--Advertisement--

किसान बोले- समर्थन मूल्य नहीं, स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू हो व्यापारी बोले- मेटल और प्लाइवुड के लिए अलग से कुछ नहीं

मोदी सरकार का बजट इस बार शहर की मेटल और प्लाइवुड इंडस्ट्री के लिए कुछ खास लेकर नहीं आया। इससे व्यापारियों के चेहरे...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 02:10 AM IST
मोदी सरकार का बजट इस बार शहर की मेटल और प्लाइवुड इंडस्ट्री के लिए कुछ खास लेकर नहीं आया। इससे व्यापारियों के चेहरे पर खुशी नहीं झलकी। हालांकि किसी तरह का अतिरिक्त भार भी इंडस्ट्री पर नहीं पड़ा, जोकि खुशी देने वाला था। वहीं किसान भी मायूस ही नजर आए। वे चाहते थे कि इस बार मोदी सरकार बजट में स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू कर अपनी चुनावी घोषण पूरी करेगी, लेकिन सरकार ने फसलों के समर्थन मूल्य घोषित कर किसानों को कुछ राहत देने का काम किया। वहीं कर्मचारी वर्ग को भी थोड़ी सी ही राहत सरकार के बजट से मिली। स्टैडंर्ड डिटेक्शन से आयकर में कर्मचारियों को फायदा मिलेगा, लेकिन सरकार ने ट्रांसपोर्ट और मेडिकल अलाउंस खत्म कर दिया।

सैलजा बोलीं-गरीब किसान से धोखा

राज्यसभा सांसद कुमारी सैलजा ने कहा कि बजट में देश की गरीब जनता व किसान का मजाक उड़ाया गया। सरकार ने नौकरीपेशा लोगों की जेब पर भी डाका डाला है।

प्लाइवुड इंडस्ट्री के लिए कुछ नहीं

प्लाइवुड व्यापारी अंकुर जैन ने बताया कि यमुनानगर प्लाइवुड का हब है, लेकिन इसके बाद भी सरकार बजट में प्लाइवुड इंडस्ट्री के लिए कोई पॉलिसी नही लाई। सरकार ने इस उद्योग को पूरी तरह दरकिनार कर िदया है।

अंकुर जैन

विकास को बढ़ावा मिलेगा : अरोड़ा

विधायक घनश्यामदास अरोड़ा ने बताया कि बजट किसान, मजदूर व आम आदमी का हितैषी है। इस बजट से देश के विकास बढ़ावा मिलेगा और देश विकास की नई ऊंचाइयां छुएगा।

किसानों को थोड़ा फायदा : अर्जुन

किसान अर्जुन सुढैल ने बताया कि किसान बर्बादी के दौर से गुजर रहा है। किसानों को इस बजट से उम्मीद थी कि सरकार स्वामीनाथन रिपोर्ट लागू करेगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। समर्थन मूल्य घोषित होने से किसानों को कुछ फायदा जरूर होगा।

अर्जुन सुढैल

सीए की नजर से इस बजट से यमुनानगर को जो मिला

1. नौकरी पेशे के लोगों को बजट में राहत देते हुए सरकार ने स्टडंर्ड डिटेक्शन को 40 हजार रुपए की राहत देने का निर्णय लिया है। यमुनानगर में 20 हजार से ज्यादा वेतन भौगियों को लाभ मिलने की बात कही जा रही है। अगर किसी का वेतन पांच लाख है, तो उसका वेतन 4.60 लाख मानते हुए उसी पर आयकर लिया जाएगा।

2. सरकार ने किसानों को राहत देते हुए फसलों को न्यूनतम समर्थन मूल्य की बात कही है। फसलों की लागत का डेढ गुणा न्यूनतम मूल्य होगा। यमुनानगर जिले में बड़ी मात्रा में सब्जियों की खेती होती है। जिनका समर्थन मूल्य मिलने से किसानों को लाभ होगा।

4. जिस रेलवे स्टेशन पर 25 हजार से ज्यादा यात्री आवागमन करते हैं उन रेलवे स्टेशन पर सवचालित सीढ़ियां बनाने का निर्णय लिया है। इसमें यमुनानगर-जगाधरी रेलवे स्टेशन का नाम आने की उम्मीद है। यहां पर करीब 25 हजार यात्री हर दिन आते-जाते हैं।

5-एमएसएमई (स्माल मध्यम लघु उद्योग) को लाभ देने के लिए सरकार ने उन उद्योगों को लाभ देने की बात कही है जिनकी टोटल सेल 250 करोड़ से कम है। इन्हें अब इनकम टैक्स का रेट 30 प्रतिशत से 25 प्रतिशत कर दिया है। यमुनानगर-जगाधरी में 90 प्रतिशत उद्योग इसी श्रेणी में आते हैं।

6-धार्मिक संस्थाओं पर डीटीएस लागू कर दिया है। अब अगर कोई भी संस्था एक दिन में दस हजार रुपए से ज्यादा लेनदेन करती है तो उसे चेक से ही लेनदेन करना होगा। (जैसा सीए नवीन बत्तरा, सीए विशाल भाटिया और प्रदीप कोहली ने बताया)

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..