• Hindi News
  • Haryana News
  • Jagadhari
  • सेवा व उपासना के मार्ग पर चलते हुए प्राणी के भीतर अभिमान लेषमात्र भी नहीं होना चाहिए: बेदी
--Advertisement--

सेवा व उपासना के मार्ग पर चलते हुए प्राणी के भीतर अभिमान लेषमात्र भी नहीं होना चाहिए: बेदी

जगाधरी | पंजाबी धर्मशाला में बुधवार को लुधियाना से आए अश्वनी बेदी महाराज के सानिध्य में सुंदरकांड का भव्य पाठ हुआ।...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:30 AM IST
जगाधरी | पंजाबी धर्मशाला में बुधवार को लुधियाना से आए अश्वनी बेदी महाराज के सानिध्य में सुंदरकांड का भव्य पाठ हुआ। इस दौरान भारी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे। इस दौरान अश्वनी बेदी महाराज ने कहा कि प्रभु हमेशा अपने शरणागत के अंग संग रहते हैं। हमेशा अपने सेवक की सहायता करते हैं। उन्होंने गुरु अर्जुन देव के बारे में बताते हुए कहा कि भीषण गर्मी में भी उन्हें घोर कष्ट दिए जा रहे थे। इसके बावजूद विचलित हुए वे प्रभु का सिमरन करते रहे। उन्होंने कहा कि सेवा व उपासना के मार्ग पर चलते हुए प्राणी के भीतर अभिमान लेषमात्र भी नहीं होना चाहिए।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..