• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Jhajjar
  • Jhajjar News haryana news at the meeting of the minister 13 decision to link water bodies to the hot line only two could be added in a year

मंत्री की बैठक में हुआ था 13 जलघर समूहों को हॉट लाइन से जोड़ने का फैसला, एक साल में केवल दो ही जुड़ पाए

Jhajjar News - भीषण गर्मी में पारा लगातार 40 पार चल रहा है। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों में पीने के पानी का संकट बना है। पिछले वर्ष...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:50 AM IST
Jhajjar News - haryana news at the meeting of the minister 13 decision to link water bodies to the hot line only two could be added in a year
भीषण गर्मी में पारा लगातार 40 पार चल रहा है। ऐसे में ग्रामीण क्षेत्रों में पीने के पानी का संकट बना है। पिछले वर्ष समस्या को देखते हुए कृषि मंत्री ने अफसरों के साथ मीटिंग की थी। तब फैसला हुआ कि क्षेत्र की जलापूर्ति बहाली में बिजली संकट बहुत बड़ी समस्या है। 13 जलघर समूहों को बिजली की हॉट लाइन से जोड़ने का निर्णय हुआ। इन बातों को साल से अधिक का समय हुआ है। लेकिन समस्या की दिशा में कार्य न के बराबर रहा। 13 में से दो जलघर समूहों को ही हॉटलाइन से जोड़ा गया। 14 मई 2018 को बादली हल्के से विधायक कृषि मंत्री ओपी धनखड़ ने क्षेत्र से पीने के पानी की समस्या को गंभीरता से लेते हुए कई विभागों की संयुक्त बैठक ली थी। तब इस बात पर मंथन किया गया था कि आखिर ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों को समय रहते पानी की प्रर्याप्त आपूर्ति क्यों नहीं मिल पा रही है। तब जनस्वास्थ्य विभाग की ओर से इस बात को प्रमुखता से उठाया था कि उनके जो जलघर ग्राम समूह हैं। वे ग्रामीण फीडर पर हैं और सरकारी नियमों के तहत ग्रामीण क्षेत्र में निश्चित घंटे ही बिजली रहती है। ऐसे में पानी को साफ करने से लेकर इस की आपूर्ति की समयबद्धता को बनाए रखने में कठिनाई आ रही है। इस प्रकार से दो दर्जन से अधिक गांव की आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए 13 जलघर ग्राम समूहों को बिजली की हॉट लाइन से जोड़ा जाना तह हुआ था। अब एक साल बीत जाने के बाद लोगों की मुलभूत से जुड़ी यह योजना पूरी तरह से सिरे नहीं चढ़ सकी है। जिसके कारण कई गांव में लोग खारा पानी पीने को मजबूर हैं।

उनके गांव में डिस्पेंसरी के पास जलघर है, लेकिन इसमें दो साल से पानी नहीं है। पानी की समस्या को देखते हुए गांव के तालाब के पास में ट्यूबवेल लगाया गया था, लेकिन यह पानी भी खारा है। क्षेत्र में जो भी ट्यूबवेल लगवाए जाते हैं। वे एक महीने के बाद ही खराब हो जाते हैं। समस्या के बारे में कृषि मंत्री को भी अवगत कराया जा चुका है। विजयपाल, सरपंच कुलाना

भास्कर फॉलोअप

14 जून 2018 को प्रकाशित खबर।


जनरेटर की व्यवस्था खर्चीली : जनस्वास्थ्य विभाग का कहना है कि वैसे इस समस्या का समाधान जनरेटर सेट के माध्यम से हो सकता है, लेकिन जनरेटर सेट के लिए डीजल की उपलब्धता। जनरेटर सेट को मेंटेन रखाना सहित दूसरी समस्याएं अधिक है। यही कारण है कि विभाग की यही मंशा है कि बिजली आधारित व्यवस्था ही अधिक कारगर साबित रहेगी। इस बीच विभागीय जानकारों का कहना है कि बिजली की आपूर्ति दिन में दो से तीन घंटे है, जिसके कारण टैंक नहीं भर पाते।

इन जलघरों काे हॉट लाइन से जोड़ा जाना था

जलघर के नाम आपूर्ति वाले गांव लोड

बाजीतपुर जलघर ग्राम समूह बाजीतपुर व बोडिया 23

उखलचाना जलघर समूह उखलचना व सिकंदपुर 50

शेखपुर जट्टजलघर शेखपुर जट्ट 50

ढाकाला जलघर ढाकाला गांव 40

किरलोद जलघर ग्राम समूह किरलोद व सुरहेती 34

कासनी जलघर ग्राम समूह कासनी फतेहपुरी व कन्हवा 57

खुड्डन जलघर समूह खुड्डन व समस्तपुर माजरा 44

छपारा जलघर समुह छपारा, रा. वाटर पंपिंग, स्टेशन गांव खुडड्न, किरालोद, सुरहेती दानदपुर, रायपुर, ऊटलोड़ा,खखाणा, पटासनी, छबिली 75

जैदपुर जलघर ग्राम समूह जैदपुर व न्यौला 27

खेडी सुलतानपुर जलघर समूह ढाणी सैनीयान व अहीयान 46

कोका जलघर समूह कोका, कुलाना व अमादलपुर 17

पादोदा जलघर पादोदा व खेडी पाटोदा 31

असादपुर खेडी जलघर असदपुर खेडा व अहरी 15

X
Jhajjar News - haryana news at the meeting of the minister 13 decision to link water bodies to the hot line only two could be added in a year
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना