विज्ञापन

कारोबारी बंसल कर रहे गो सेवा, अब गोशाला बनाएंगे

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2019, 04:21 AM IST

Jhajjar News - गांव गोच्छी में रहने वाले नित्यानंद बंसल का दिल्ली में बड़ा व्यवसाय रहा है। 35 वर्षों से उन्होंने इलेक्ट्रानिक्स,...

Jhajjar News - haryana news going services now will make gosala
  • comment
गांव गोच्छी में रहने वाले नित्यानंद बंसल का दिल्ली में बड़ा व्यवसाय रहा है। 35 वर्षों से उन्होंने इलेक्ट्रानिक्स, जूता और मिठाई के कारोबार में खासा मुकाम पाया। एक दिन सड़क पर उनकी नजर घायल गाय पर गई। उसी समय उन्होंने गोशाला और वृद्ध आश्रम का संचालन करने का निर्णय लिया। इसके बाद वह दिल्ली से अपने पैतृक गांव गोच्छी आ आए। व्यवसाय से ध्यान हटाकर गो सेवा में लगा दिया। गांव के समीप गोशाला और वृद्धाश्रम तैयार कर लिया। वह गोशाला के कार्यों में इतना व्यस्त रहने लगे कि इसको अपना परिवार मान लिया। दिल्ली जाना भी बंद कर दिया। अब वह गायों का चारा डालने से लेकर गोबर उठाने तक के काम करते हैं। गोशाला में दूसरे सेवादार भी हैं, लेकिन वह अपने हाथ से श्रम करने में विश्वास करते हैं। गो भक्त सतीश कौशिक बताते हैं कि नित्यानंद बंसल की भूख-प्यास भूले ही जाए, लेकिन समय पर गो माता के चारे और पानी का पूरा ध्यान करते हैं। मौजूदा समय में इनके पास 150 गाय हैं। अब उन्होंने अत्याधुनिक गोशाला और चिकित्सालय बनाने के लिए प्रयास तेज किए हैं।

झज्जर की गोशाला में जुटे नित्यानंद गायों की सेवा करते हुए।

पर्यावरण के प्रति जागरूक करते हैं : नित्यानंद बंसल गोमाता और वृद्ध की निस्वार्थ सेवा के साथ-साथ लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करते हैं। डीघल-बेरी मार्ग पर माता भीमेश्वरी देवी गोशाला और वृद्धाश्रम के संचालन के साथ वह अपने आसपास में खाली जगह की तलाश करते हैँ। जगह उपलब्ध होने पर वह इसपर फलदार, औषधी युक्त व छायादार वृक्ष लगवाते हैं। रोपे गए पौधों की देखभाल करते हैं। नित्यानंद बंसल हजारों की संख्या में पौधरोपण भी करा चुके हैं। नित्यानंद बंसल जहां पहले व्यवसाय प्रवृति के थे वहीं, वह अब पूरी तरह से धार्मिक हो गए हैं। उन्होंने मरणोपरांत अपना देह भी दान किया है। इनका कहना है कि वृद्धों की सेवा करते हुए उनको ख्याल आया कि यदि यह शरीर मरणोपरांत किसी जीव के काम आता है, तब किसी न किसी का भला ही होगा।

X
Jhajjar News - haryana news going services now will make gosala
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें