तनाव से छुटकारा पाने के लिए धार्मिक आयोजनों में जाने की आदत डालनी होगी

Jhajjar News - आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में हर मनुष्य किसी न किसी रूप में तनावग्रस्त नजर आता है। अगर हमने तनाव से छुटकारा पाना है...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:46 AM IST
Jhajjar News - haryana news to get rid of stress the habit of going to religious events
आज की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में हर मनुष्य किसी न किसी रूप में तनावग्रस्त नजर आता है। अगर हमने तनाव से छुटकारा पाना है तो हमें धार्मिक आयोजनों की शरण में आना ही होगा। यह बात हरिपुरा मोहल्ला स्थित श्रीराम धर्मशाला में चल रही श्रीमद्भागवत कथा में कथा व्यास विमल कृष्ण पाठक ने श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि सत्संग वह स्थल है जहां प्रवेश करते ही मन में आ रहे बुरे विचार स्वयं ही समाप्त हो जाते है। सत्संग हमें जीवन जीने की कला सिखाते हैं। सत्संग में आकर मनुष्य अपने आपको तनाव रहित महसूस करता है। उन्होंने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा में जीवन का सार छिपा है। श्रीमद्भागवत एकमात्र ग्रंथ है जिसके हर अध्याय में हमें कुछ न कुछ सीखने को मिलता है। उन्होंने कहा कि सत्संग में सीखी गई बाते हमारे जीवन पर अच्छा प्रभाव डालती है। इसलिए हमें धार्मिक आयोजनों में जाने की आदत डालनी चाहिए। कथा व्यास पाठक ने कहा कि श्रीमद्भागवत कथा का आयोजन जिस स्थान पर होता है वहां भगवान स्वयं किसी न किसी रूप में मौजूद रहते है। मान्यता है कि उस स्थान की पवित्रता भी बढ़ जाती है जहां कथा का आयोजन किया जाता है। भागवत चार्य ने कहा कि कहा जाता है कि श्रीमद्भागवत कथा सुनना व सुनाना बड़े भाग्य की बात कही जाती है। धार्मिक आयोजन जहां हमारी प्राचीन संस्कृति को जीवित रखने में सहायक होते है वहीं धार्मिक आयोजनों से मन में आए बुरे विचार भी दूर होते है। इस मौके पर मुख्य यज्ञमान राधेश्याम भाटिया, बनवारी बनलाल शर्मा, लेखराज गोस्वामी, रामअवतार गेरा, बिट्टू चुघ, जगदीश कटारिया, जग्गी गेरा, अशोक गेरा, अश्विनी अरोड़ा, प्रवीन सुखीजा श्रद्धालु मौजूद रहे।

झज्जर की श्रीराम धर्मशाला में श्रीमद्भागवत कथा सुनते श्रद्धालु।

X
Jhajjar News - haryana news to get rid of stress the habit of going to religious events
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना