Hindi News »Haryana »Jhajjar» दो वर्ष में भी सिरे नहीं चढ़ी सीएम की घोषणाएं, टेंडर का इंतजार

दो वर्ष में भी सिरे नहीं चढ़ी सीएम की घोषणाएं, टेंडर का इंतजार

नगर पालिका में सीएम की घोषणाओं के बावजूद काम बेहद धीमे गति से हो रहे हैं। सीएम की घोषणा के 2 वर्ष बाद तो नपा एस्टीमेट...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:35 AM IST

दो वर्ष में भी सिरे नहीं चढ़ी सीएम की घोषणाएं, टेंडर का इंतजार
नगर पालिका में सीएम की घोषणाओं के बावजूद काम बेहद धीमे गति से हो रहे हैं। सीएम की घोषणा के 2 वर्ष बाद तो नपा एस्टीमेट बनवा सकी। वहीं, जब एक पखवाड़े पहले सीएम ने जब अपनी विकास घोषणाओं के शिलान्यास पत्थर रख दिए तब भी नपा इनके टेंडर नहीं लगा सकी है। नपा का कहना है कि जल्द ही सभी टेंडर लगा दिए जाएंगे। नपा के हिस्से में सीएम विकास योजना के तहत पहली बार १५ करोड़ रुपए से ज्यादा के विकास कार्य आए हैं। इनमें दो नई सड़कें बनना है। नपा को तीन इमारत मिलनी है इसके अलावा सभी १९ वार्डों में गली, नाली के काम होने हैं। इन सभी की घोषणाएं सीएम ने फरवरी २०१६ की अपनी झज्जर विकास रैली में थी। अब हद यह है कि इन दो सालों में नपा इनके एस्टीमेट ही तैयार नहीं कर सकी। लिहाजा सरकार से इनकी मंजूरी नहीं मिल सकी। अब ढाई माह पूर्व जब एस्टीमेट तैयार हुए और अप्रैल माह में इनकी मंजूरी मिली। इसके बाद सीएम ने १६ अप्रैल को सभी विकाय कार्यों के शिलान्यास पत्थर रख किए। इसी दिन इनके टेंडर लगने थे ताकि काम शुरू हो सके। सूत्रों ने बताया कि ये टेंडर रद्द कर दिए गए। अब नए सिरे से टेंडर प्रक्रिया अपनाई जा रही है।

नगर पालिका में विकास कार्यों की धीमी रफ्तार, 2016 की सीएम की घोषणाएं भी पूरी नहीं हुई

झज्जर. दमकल केंद्र को मिलनी है नई इमारत।

37 करोड़ से अधिक की योजनाएं सीएम ने झज्जर को दी थी

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने झज्जर को लगभग 37 करोड़ 33 लाख 51 हजार रुपए की एक दर्जनभर योजनाएं दी थीं। मुख्यमंत्री ने शहर के राजकीय नेहरू महाविद्यालय परिसर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान 11 करोड़ 90 लाख 29 हजार रुपए की लागत से तैयार की जाने वाली बादली-याकूबपुर वाया फतेहपुर सड़क मार्ग का शिलान्यास किया। वहीं 3 करोड़ 25 लाख रुपए से बनने वाले खेल सुविधा केंद्र की आधारशिला रखी। उन्होंने बेरी क्षेत्र की सिंचाई विभाग की दो महत्वपूर्ण विकास परियोजनाओं का उद्घाटन किया। इनमें लगभग डेढ़ करोड़ की लागत से जेएलएन नहर पर बने पुल का पुन: निर्माण और बिसान लिंक ड्रेन पर होने वाला निर्माण कार्य शामिल है। लिंक ड्रेन को मजबूती प्रदान करने वाले कार्य पर 2 करोड़ आठ लाख 15 हजार रुपए खर्च आना है। मुख्यमंत्री ने शहरी विकास विभाग की आधा दर्जन विकास योजनाओं के शिलान्यास पत्थर रखे थे।

कुछ तकनीकी कारणों से टेंडर रद्द किए गए हैं। जल्द ही सभी टेंडर लगा दिए जाएंगे। -नरेंद्र सैनी,सचिव नपा झज्जर

यह होने हैं नपा के तहत विकास कार्य:नपा के विकास कार्य के तहत 1 करोड़ 83 लाख 35 हजार रुपए की लागत से अग्निशमन केन्द्र, दो करोड़ 92 लाख 19 हजार रुपए लागत से झज्जर नगर पालिका भवन और एक करोड़ 45 लाख रुपए नए लाइब्रेरी भवन का निर्माण शामिल है। इसके अलावा शहर के बाबा प्रशाद गिरी मंदिर से गांव सुर्खपुर रोड तक का निर्माण होना है। इस पर लगभग दो करोड़ रुपए खर्च होंगे। इसी प्रकार बहादुरगढ़ मार्ग स्थित बहुतकनीकी संस्थान से बादली मार्ग तक डेढ़ करोड़ की लागत से तैयार होने वाले सड़क मार्ग हैं। झज्जर शहर के मुख्य स्थानों पर 1 करोड़ 77 लाख रुपए के सीसीटीवी लगाने हैं।

नपा को रास नहीं आई सरकारी रेट से भी कम बोली

आमतौर पर जिस किसी कार्य का टेंडर नपा लगाती आई है तब उसें यह देख जाता है कि सरकारी रेट से भी कम की बोली कौन लगाएगा। इससे पहले बंदर पकड़ने, घर-घर कचरा उठाने में भी यह नियम अपनाया गया, लेकिन १५ करोड़ रुपए के विकास कार्य मामले में जब सरकारी रेट से भी कम बोलीदाता सामने आए तो नपा को यह प्रक्रिया रास नहीं आई। लिहाजा टेंडर रद्द कर इन्हें फिर से लगाने की तैयारी कर ली गई है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhajjar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×