• Hindi News
  • Haryana News
  • Jhajjar
  • फोरेंसिक टीम के आने से पहले घर में बिखरा खून साफ किया, आंख पर चोट जैसा निशान खड़े कर रहा सवाल
--Advertisement--

फोरेंसिक टीम के आने से पहले घर में बिखरा खून साफ किया, आंख पर चोट जैसा निशान खड़े कर रहा सवाल

चांदपुर में मधु के घर फर्श पर पड़ा खून साफ करने पर भी दिखाई दे रहा है। ढाई बजे नेहरू कॉलेज की बीएससी फाइनल ईयर की...

Dainik Bhaskar

May 03, 2018, 02:35 AM IST
फोरेंसिक टीम के आने से पहले घर में बिखरा खून साफ किया, आंख पर चोट जैसा निशान खड़े कर रहा सवाल
चांदपुर में मधु के घर फर्श पर पड़ा खून साफ करने पर भी दिखाई दे रहा है।

ढाई बजे नेहरू कॉलेज की बीएससी फाइनल ईयर की छात्रा को जाना था पेपर देने, 10 बजे मौत

भास्कर न्यूज | झज्जर

चांदपुर की 22 वर्षीय छात्रा मधु की पिता की लाइसेंसी पिस्तौल से चली गोली से हुई मौत पर सवाल खड़े हो रहे हैं। रिटायर्ड सीआरपीएफ जवान व मधु के पिता जहां इसे सुसाइड बता रहे हैं, वहीं, मौके की परिस्थितियां शक पैदा कर रही है। पुलिस और एफएसएल टीम के पहुंचने से पहले ही घर के उस कमरे में बिखरा पड़ा मधु का खून साफ कर दिया गया था। उसकी आंख पर चोट जैसा निशान है। वहीं, गोली माथे के बीचों-बीच लगी है। पुलिस इस बात पर भी संदेह जता रही है। पुलिस ने सुसाइड का केस तो दर्ज कर लिया है, लेकिन अभी पोस्टमार्टम और एफएसएल रिपोर्ट का इंतजार है। उसके बाद हत्या या सुसाइड की गुत्थी सुलझ सकेगी। मधु ने कोई सुसाइड नोट नहीं छोड़ा है। इसके अलावा उसके परिजनों ने भी मधु की मौत के कारणों की जांच की मांग नहीं की है। पिता का कहना है कि मधु पढ़ाई में कमजोर थी। वहीं, उसकी सहेलियों का कहना है कि वह पढ़ाई में ठीक थी। इस वजह से कई सवाल खड़े हो रहे हैं, जिनका जवाब पुलिस जांच में ही सामने आएगा।

मौत की सूचना पर गुरुग्राम से आया : पिता

मधु पिछले सात दिन से घर पर ही थी। राजकीय नेहरू काॅलेज की बीएससी मेडिकल अंतिम वर्ष की छात्रा मधु अपने पेपर की तैयारी कर रही थी। बुधवार दोपहर ढाई बजे उसका पेपर था। पिता ने माना कि वो पेपर देने जाने वाली थी, लेकिन अचानक उसके द्वारा सुबह 10 बजे गोली मारने की सूचना पर वो गुरुग्राम से आया। पिता कर्मवीर सीआरपीएफ से सेवानिवृत होने के बाद एक सिक्योरिटी कंपनी में गुरुग्राम में काम करता है। पुलिस को दिए बयान के अनुसार हादसे वाले दिन उसकी प|ी अनीता रसोई में थी और मधु कमरे में साफ-सफाई कर रही थी। तभी मधु ने खुद को गोली मार ली।

एसडीएम ने नायब तहसीलदार को भेजा

मधु की मौत के मामले में जिला प्रशासन भी सक्रिय दिखा। इस मामले में डीसी के कहने पर एसडीएम झज्जर ने नायब तहसीलदार को घटनास्थल का मुआयना कर रिपोर्ट बनाने को कहा।

बड़ा सवाल | माथे के बीचों-बीच लगी है गोली, पुलिस भी संदेह जताकर इस बिंदु पर कर रही जांच

पिता ने कहा-बेटी पढ़ाई में कमजोर थी, सहेलियां बोलीं-होशियार थी

मधु की मौत के मामले में उसके पिता कर्मवीर ने पुलिस बयान में बेटी के सुसाइड का कारण उसका पढ़ाई में कमजोर होना बताया है। हालांकि जब मधु के नेहरू काॅलेज में पड़ताल की गई तो उसकी साथी छात्राओं का कहना था कि मधु पढ़ाई में होशियार थी। हम सब तो उसका काॅलेज में आने के लिए इंतजार कर रहे थे। उन्हें अंदाजा नहीं था कि इतनी बड़ी बात हो जाएगी।

लोग बोले-मोबाइल पर बातचीत के बाद हुआ विवाद

मधु की मौत के बाद गांव में कई तरह की चर्चाओं का दौर भी शुरू हो गया है। दबी जुबान में लोग किसी से मोबाइल पर बातचीत के बाद घर में विवाद होना एक वजह गिनवा रहे हैं। अभी पुलिस इस पहलू पर भी जांच करेगी।

आईओ नहीं गए मौके पर, बोले-

मैं पोस्टमार्टम कराने में व्यस्त रहा

मधु मामले की जांच झज्जर पुलिस ने कुलाना पुलिस चौकी के एएसआई मुकेश कुमार को सौंपी गई है। हालांकि जब आईओ से घटनास्थल के सीन के बारे में पूछा गया तो उनका कहना था कि वे मौके पर नहीं थे और मधु के पोस्टमार्टम की कार्रवाई में जुटे थे। लिहाजा उन्हें इस बात की जानकारी नहीं है कि घटनास्थल पर किस तरह का सीन था। आईओ ने मधु की आंख पर लगी गहरी चोट के बारे में कहा कि जरूरी नहीं है कि ये किसी चोट का निशान हो, डाक्टरों के अनुसार करीब से गोली लगने पर उसका प्रेशर कभी-कभी आंखों पर आ जाता है।

चौकी प्रभारी ने माना-

परिजनों ने किया खून साफ

कुलाना पुलिस चौकी प्रभारी अमित कुमार ने माना कि वो जब घटनास्थल पर पहुंचे तो फर्श पर काफी मात्रा में बिखरा खून परिजनों ने साफ किया हुआ था। हालांकि चौकी प्रभारी ने यह भी कहा कि ऐसा लगता नहीं है कि परिजनों ने कोई सबूत मिटाने के लिए किया हो। चौकी प्रभारी ने कहा कि खून साफ किए जाने पर परिजनों को मौके पर ही बताया गया कि यह सब गलत हुआ है। क्राइम इनवेस्टीगेशन टीम व एफएसएल टीम के साथ-साथ पोस्टमार्टम रिपोर्ट का हमें इंतजार है, उसके बाद ही जांच आगे बढ़ सकेगी।

मधु का फाइल फोटो

फोरेंसिक टीम के आने से पहले घर में बिखरा खून साफ किया, आंख पर चोट जैसा निशान खड़े कर रहा सवाल
फोरेंसिक टीम के आने से पहले घर में बिखरा खून साफ किया, आंख पर चोट जैसा निशान खड़े कर रहा सवाल
X
फोरेंसिक टीम के आने से पहले घर में बिखरा खून साफ किया, आंख पर चोट जैसा निशान खड़े कर रहा सवाल
फोरेंसिक टीम के आने से पहले घर में बिखरा खून साफ किया, आंख पर चोट जैसा निशान खड़े कर रहा सवाल
फोरेंसिक टीम के आने से पहले घर में बिखरा खून साफ किया, आंख पर चोट जैसा निशान खड़े कर रहा सवाल
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..