Hindi News »Haryana »Jhajjar» 90 दिन में प्रदेश के 4210 लाइसेंस धारकों ने किया उल्लंघन

90 दिन में प्रदेश के 4210 लाइसेंस धारकों ने किया उल्लंघन

भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा प्रदेश में लाल बत्ती क्रॉस करना, ओवर स्पीड में वाहन चलाना, शराब पीकर ड्राइविंग...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 03, 2018, 02:35 AM IST

भास्कर न्यूज | राजधानी हरियाणा

प्रदेश में लाल बत्ती क्रॉस करना, ओवर स्पीड में वाहन चलाना, शराब पीकर ड्राइविंग करना शान समझी जाती है। पंचकूला, रोहतक, फरीदाबाद रेड लाइट जंप करने में सबसे आगे हैं। जबकि गुड़गांव में शराब पीकर वाहन चलाना शान समझा जाता है, यहां शराब पीकर वाहन चलाने के सबसे अधिक मामले सामने आए हैं।

ट्रैफिक रूल्स का उल्लंघन करने में गुड़गांव सबसे आगे हैं। यहां 90 दिन में 1083 वाहन चालक ऐसा करते पकड़े गए हैं। प्रदेश में पिछले तीन माह में 4210 वाहन चालकों पर कार्रवाई की गई है और इनके लाइसेंस सस्पेंड करने के लिए संबंधित जिलों की अथॉरिटी को लिखा है। प्रदेश में हर साल करीब 5100 लोगों की जान सड़क हादसों में जा रही हैं, जबकि 10 हजार से अधिक लोग घायल हो जाते हैं।

हरियाणा ट्रैफिक एवं हाईवे ने की लाइसेंस कैंसिल की सिफारिश

गुड़गांव में पियक्कड़ चालक पकड़े, पंचकूला वाले ओवर स्पीड में फंसे, गुड़गांव-फरीदाबाद में मोबाइल करते हैं यूज

किस जिले में किन नियमों का उल्लंघन

जिला ओवर रेड लाइट नशे मोबाइल

स्पीड जंप का सेवन यूज

अम्बाला 130 00 00 00

पंचकूला 471 24 141 07

यमुनानगर 9 7 01 01

कुरुक्षेत्र 124 00 04 02

कैथल 30 13 43 12

करनाल 14 00 00 00

पानीपत 102 05 00 00

सोनीपत 36 10 00 71

रोहतक 457 09 49 23

झज्जर 21 00 03 33

हिसार 35 03 00 01

हांसी 00 00 08 08

फतेहाबाद 07 01 08 11

सिरसा 252 149 14 10

भिवानी 07 00 00 00

चरखी दादरी 00 00 00 00

जींद 00 11 05 01

गुड़गांव 01 250 575 251

फरीदाबाद 400 48 35 235

पलवल 29 00 03 00

रेवाड़ी 20 00 00 05

नारनौल 00 00 00 00

मेवात 01 00 00 00

639 चालक मोबाइल प्रयोग करते पकड़े

ट्रैफिक पुलिस के आंकड़े बताते हैं कि तीन माह में प्रदेश में 639 वाहन चालक मोबाइल का प्रयोग करते समय वाहन चलाते पकड़े गए, इनमें से करीब 486 व्यक्ति गुड़गांव व फरीदाबाद जिलों के हैं, जबकि प्रदेश में 889 व्यक्ति नशे आदि का सेवन कर वाहन चलाते हुए पकड़े गए। 530 ने रेड लाइट जंप की हैं, जबकि 2146 ने ओवर स्पीड से वाहन चलाए।

एल्कोसेंसर पड़े ठप, कैसे पकड़े जाएंगे पियक्कड़

प्रदेश में शराब पीकर वाहन चलाने वाले पियक्कड़ों की जांच करने को मंगाए गए 274 में से 78 एल्कोसेंसर डिफेक्टिव हो चुके हैं। जबकि 196 ही चालू हालत में हैं। 22 जिलों में 193 ई चालानिंग मशीन उपलब्ध कराई गई हैं। जबकि जरूरत 1500 की है। अभी भी प्रदेश में 1307 ई चालानिंग मशीनों की जरूरत है।

नियम तोड़ने वाले नहीं बख्शे जाएंगे : डीआईजी

जनवरी से मार्च तक प्रदेशभर में वाहन चालकों पर कार्रवाई की गई। यह आगामी समय में भी जारी रहेगी। कुल 4210 वाहन चालकों के लाइसेंस सस्पेंड करने के लिए लाइसेंस अथाॅरिटी को लिखा गया है। भविष्य में पियक्कड़ों, तेज गति व रेड लाइट जंप करने वालों पर और शिकंजा कसा जाएगा। -राकेश आर्य, डीआईजी, ट्रैफिक एवं हाईवे, हरियाणा।

वर्ष 2017 में 5120 लोगों की सड़क हादसों में गई जान

हरियाणा में विभिन्न मार्गों पर वर्ष 2017 में 5120 लोगों की सड़क हादसों में मौत हो गई, जबकि वर्ष 2016 में 5024 लोगों की मौत हुई थी, यानी 96 अधिक लोगों ने जान गंवाई। वर्ष 2017 में ही प्रदेश में 10339 लोग सड़क हादसों में घायल हो गए, वर्ष 2016 में प्रदेश में 10531 लोग घायल हुए थे। गुड़गांव में सबसे अधिक 1216 लोग सड़क हादसों में घायल हुए हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jhajjar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×