Hindi News »Haryana »Jind» Unmarried Guy Demand To Connect Marriage Certificate With Aadhaar

शादी के बाद संपत्ति लेकर भाग न जाएं दुल्हन, कुंवारों की मांग- आधार से जोड़ा जाए मैरिज सर्टिफिकेट

शादी के कुछ दिन बाद ही ऐसी दुल्हनें घर में रखी नगदी, जेवरात,कीमती सामान लेकर फुर्र हो जाती हैं।

सुरेंद्र भारद्वाज | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:44 AM IST

शादी के बाद संपत्ति लेकर भाग न जाएं दुल्हन, कुंवारों की मांग- आधार से जोड़ा जाए मैरिज सर्टिफिकेट

जींद.प्रदेश के कुंवारे इन दिनों दोहरी समस्या में फंसे हैं। जमीन-जायदाद होने के बावजूद इनकी शादी नहीं हो रही। उम्र निकलती जा रही है। जो मोल ली गई दुल्हनें आ रही हैं वे लुटेरी निकल रही हैं। जींद जिले और आसपास के कुंवारों ने अपने साथ शादी के इस फर्जीवाड़े को रोकने के लिए मांग की है कि मैरिज सर्टिफिकेट को आधार कार्ड से जोड़ा जाए, ताकि दुल्हन की सही पहचान सामने आ सके।

पूरी पहचान फर्जी होती है इन लुटेरी दुल्हनों की

कुंवारों की मजबूरी का फायदा उठाने के लिए प्रदेश में इनदिनों कई गिरोह सक्रिय हैं, जो यूपी, बंगाल, बिहार, झारखंड आदि राज्यों से काफी कम कीमत पर लड़कियां खरीद कर लाते हैं और फिर हरियाणा में एजेंटों की मार्फत एक से दो लाख रुपए लेकर कुंवारों के साथ शादी करवा देते हैं। इस दौरान कोर्ट में शादी होती है। दुल्हन की पहचान पूरी फर्जी होती है। शादी के कुछ दिन बाद ही ऐसी दुल्हनें घर में रखी नगदी, जेवरात व अन्य कीमती सामान मौका लगते ही लेकर फुर्र हो जाती हैं।

प्रदेश में करीब 10 लाख कुंवारों की उम्र 30 से पार
प्रदेश में पिछले कई साल से लगातार कुंवारों की संख्या बढ़ रही है। फिलहाल प्रदेश में करीब 10 लाख ऐसे कुंवारे हैं, जिनकी उम्र 30 से पार पहुंच चुकी हैं और शादी नहीं हो पा रही। काफी कुंवारे इस दौरान दूसरे प्रदेशों से मोल की बहू लेकर आए हैं। इसमें सबसे ज्यादा मोल की बहुएं पश्चिम बंगाल, बिहार व झारखंड से आई हैं।

जेवरात लेकर फरार

रोहतक जिले के समैण गांव का अनिल एक लाख 10 हजार में रुपए में दलालों की मार्फत पंजाब से दुल्हन खरीद कर लाया था। 28 जनवरी को रोहतक कोर्ट में शादी हो गई। सप्ताह भर तक रहने के बाद दुल्हन घर में रखी 50 हजार रुपए की नगदी व जेवरात रात को लेकर फरार हो गई।

10 दिन की दुल्हन दवा पिलाकर ले गई सामान

बुडायन गांव का मोहन 30 साल का हो चुका था। उसकी शादी नहीं हो पाई। पिछले दिनों वह मोल की बहू लाने के चक्कर में दलालों के संपर्क में आया। इस दौरान तय हुआ की 1 लाख 50 हजार रुपए में उसकी शादी करा दी जाएगी। 3 मार्च को मोहन की शादी पंजाब के सुलतानपुर लोधी निवासी अमरजीत कौर के साथ करा दी गई। मोहन ने बताया कि 10 दिन बाद दुल्हन ने पूरे परिवार को नशीली दवा खिलाई आैर फरार हो गई।

कारण: कन्या भ्रूण हत्या

पूर्व आईएएस अधिकारी जयवंती श्योकंद का कहना है कि प्रदेश में कुंवारों की लगातार संख्या का इस समय बढ़ने का बड़ा कारण विगत सालों में प्रदेश में हुई कन्या भ्रूण हत्या है। समाज में बेटे की ज्यादा चाहत रही है। इसके कारण लिंगानुपात बिगड़ा है। समाज अब कन्या भ्रूण हत्या का दंश झेल रहा है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jind

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×