Hindi News »Haryana »Jind» सरकारी खरीद; हैफेड ने 3 दिन में खरीदी 413 क्विंटल सरसों

सरकारी खरीद; हैफेड ने 3 दिन में खरीदी 413 क्विंटल सरसों

किसानों के लिए अच्छी सूचना है। पिछले कई दिनों से किसान अपनी सरसों की फसल को बेचने के लिए सरकारी खरीद का इंतजार कर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:15 AM IST

किसानों के लिए अच्छी सूचना है। पिछले कई दिनों से किसान अपनी सरसों की फसल को बेचने के लिए सरकारी खरीद का इंतजार कर रहे थे। सरसों की सरकारी खरीद न होने से कम रेट पर प्राइवेट खरीद करवाकर नुकसान उठाना पड़ रहा था। अब सरकार ने नैफेड (नेशनल एग्रीकल्चर कोआपरेटिव मार्केटिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया) द्वारा एजेंसी हैफेड के माध्यम से जींद की नई अनाज मंडी में सरसों की सरकारी खरीद शुरू की है। पिछले तीन दिनों में 413 क्विंटल सरसों की खरीद हो चुकी है। हालांकि एजेंसी ने जिला के गांवों के किसानों को सरसों को बेचने के लिए अलग-अलग दिन निर्धारित किए गए हैं। दिन के अनुसार ही किसान अनाज मंडी में सरसों की फसल लेकर आएं, ताकि बिना इंतजार के लिए उनकी फसल खरीदी जा सके।

ये दस्तावेज लाएं किसान

सरकारी एजेंसी हैफेड सरसों की ऑनलाइन खरीद कर रही है। इसके बाद एजेंसी सीधे किसानों के खाते में पेमेंट करेगी। इसके लिए किसान को फरद, गिरदावरी की नकल, एक फोटो, आधार कार्ड, आईएफएससी कोड के साथ पास बुक की कॉपी लेकर आनी होगी। एजेंसी एकड़ के अनुसार छह क्विंटल 60 किलो की खरीद करेगी। अधिकतम 25 क्विंटल सरसों की खरीद की जाएगी। एजेंसी अकाउंटेंट रवींद्र ने बताया कि सरसों में 85% नमी के मापदंडों के अनुसार ही सरसों की खरीद की जाएगी।

विभिन्न गांव के किसानों के लिए निर्धारित किए हैं अलग-अलग दिन

जींद. नई अनाज मंडी में सरसों की सफाई करते मजदूर।

किसानों को लाखों रुपए का नुकसान उठाना पड़ा

जिले की अनाज मंडियों में लगभग एक माह पहले ही सरसों की फसल आ चुकी थी, लेकिन सरसों की सरकारी खरीद न होने पर किसानों को कम रेट पर प्राइवेट खरीद करवानी पड़ रही थी। इससे किसानों को लाखों रुपए का नुकसान उठाना पड़ा। अब तक जिले की अनाज मंडियों में लगभग 30 हजार क्विंटल से ज्यादा की प्राइवेट खरीद हो चुकी है।

जींद जिले में लेट शुरू हुई खरीद

जींद में दूसरे जिलों की अपेक्षा सरसों की सरकारी खरीद देर से शुरू हुई, क्योंकि सरकार ने सरसों की सरकारी खरीद का जो शेड्यूल जारी किया था। इसमें जींद जिले का चयन नहीं किया गया था। उसके बाद किसानों की मांग पर सरकार ने एजेंसी हैफेड को 25 मार्च को लेटर भेजा। इसके बाद एजेंसी ने कौनसे गांव की सरसों किस दिन खरीदनी है का शेड्यूल बनाया। अब अनाज मंडी में सरसों की सरकारी खरीद शुरू हो गई है।' -कर्ण सिंह लोहान, डीएम हैफेड, जींद

सरसों बेचने का ये रहेगा शेड्यूल

2 अप्रैल : जींद, पेगां, पिंडारा, मालवी, काकड़ोद, हथवाला

3 अप्रैल : किनाना, बराहकलां, खेड़ी बुल्लावली, ईगराह, दोरड़, दरोलीखेड़ा

4 अप्रैल : सिंधवीखेड़ा, डाहोला, बागनवाला, उचाना कलां, खरैंटी, तेग बहादुरपुर

5 अप्रैल : गोविंदपुरा, बराहखुर्द, अलेवा, जलालपुरा खुर्द, करेला, उदयपुर

6 अप्रैल : रधाना, मांडोखेड़ी, कटवाल, बीबीपुर, लिजवाना कलां, बुडायन

7 अप्रैल : किशनपुरा, हैबतपुर, बड़ौदी, रामगढ़, कमाचखेड़ा, अलीपुरा

9 अप्रैल : दालमवाला, बरसोला, जुलानी, संगतपुरा, ब्राह्मणवास, मखंड

10 अप्रैल : बिशनपुरा, सुंदरपुर, झांझकलां, राजपुरा, किलाजफरगढ़, खापड़

29 से हो रही खरीद

सरकार ने एजेंसी हैफेड को सरसों की सरकारी खरीद के लिए पत्र जारी किया है। 29 मार्च से एजेंसी हैफेड ने सरसों की खरीद शुरू कर दी है। पिछले तीन दिनों में हैफेड ने 413 क्विंटल सरसों की खरीद की जा चुकी है।' -कृष्ण, असिस्टेंट सेक्रेटरी, मार्केट कमेटी, जींद

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Jind

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×