• Hindi News
  • Haryana News
  • Jind
  • ‘सेवा-त्याग की जीवंत मूर्ति है भगवान हनुमान’
--Advertisement--

‘सेवा-त्याग की जीवंत मूर्ति है भगवान हनुमान’

जींद | माता वैष्णवी धाम में हनुमान जयंती पर शनिवार देर शाम को हनुमान की पूजा-अर्चना की गई। इस दौरान आचार्य पवन शर्मा...

Dainik Bhaskar

Apr 02, 2018, 02:20 AM IST
‘सेवा-त्याग की जीवंत मूर्ति है भगवान हनुमान’
जींद | माता वैष्णवी धाम में हनुमान जयंती पर शनिवार देर शाम को हनुमान की पूजा-अर्चना की गई। इस दौरान आचार्य पवन शर्मा ने कहा कि शक्ति, भक्ति, समर्पण, सेवा-त्याग की जीवंत मूर्ति हैं- भगवान हनुमान। इस अवसर पर शीला व उनकी मंडली ने सुंदरकांड का पाठ किया। आचार्य ने कहा सीताराम के अनन्य भक्त हनुमान अत्यंत शक्ति संपन्न एवं परम पराक्रमी तो हैं हीं वे अत्यंत बुद्धिमान, शास्त्रों के पारंगत विद्वान, परम नीतिज्ञ व सरलता की मूर्ति भी हैं। मनुष्य किसी भी तरह से प्रभु की ओर उन्मुख हो जाए, दयामय प्रभु की ओर पग बढ़ाकर, उन पर समर्पित होकर अपना कल्याण सुनिश्चित कर ले, इसके लिए कृपामूर्ति श्रीहनुमान जी सदैव प्रय|शील रहते हैं। महिलाओं ने इस अवसर पर भक्तिभाव से ओत-प्रोत होकर बाबा के सम्मुख नृत्य व गायन किया। इस मौके पर सोमवीर पहलवान, सुरेश देवी, लक्ष्य श्योराण, आरएन गिरोतरा, डाॅ. एसके आहूजा, सुभाष पाहवा, सुरेंद्र सिंगला, देवेंद्र शर्मा, रामकुमार गुप्ता, हरीश गिरधर, अशोक गुलाटी, राकेश शर्मा, भालसिंह कुंडू, दयाकिशन, सतपाल गुलाटी, दलबीर चहल, आरके कोहली, परमजीत सेठी आदि मौजूद रहे।

X
‘सेवा-त्याग की जीवंत मूर्ति है भगवान हनुमान’
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..