• Home
  • Haryana News
  • Jind
  • चतुर्थ श्रेणी कर्मियों ने मांगा स्थाई कर्मचारी का दर्जा
--Advertisement--

चतुर्थ श्रेणी कर्मियों ने मांगा स्थाई कर्मचारी का दर्जा

हरियाणा राज्य चतुर्थ श्रेणी सरकारी कर्मचारी यूनियन की राज्य स्तरीय मीटिंग रविवार को अक्षर भवन में हुई। इसकी...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:20 AM IST
हरियाणा राज्य चतुर्थ श्रेणी सरकारी कर्मचारी यूनियन की राज्य स्तरीय मीटिंग रविवार को अक्षर भवन में हुई। इसकी अध्यक्षता राज्य प्रधान ईश्वर सरोही ने की। इस दौरान सर्व कर्मचारी संघ के राज्य प्रधान धर्मबीर फोगाट ने कहा कि सभी विभागों के कर्मचारी सरकार की विरोधी नीतियों के कारण आंदोलन पर है। सत्ता में आने से पहले भाजपा ने अपने घोषणा पत्र में कहा था कि सत्ता में आते ही कच्चे कर्मचारियों को पक्का किया जाएगा, लेकिन सत्ता में आने के बाद भाजपा ने एक भी वादा पूरा नहीं किया। जिससे कच्चे कर्मचारियों में सरकार के प्रति गहरा रोष है।

उन्होंने मांग की कि स्कीम वर्करों को स्थाई कर्मचारी का दर्जा व न्यूनतम वेतन सभी पर लागू कर पंजाब के समान वेतन दिया जाए। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के अनुसार समान काम समान वेतन दिया जाए। पुरानी पेंशन नीति बहाल की जाए, ठेकेदारी प्रथा को बंद किया जाए। उन्होंने कहा कि इन मांगों को लेकर सर्व कर्मचारी संघ 29 अप्रैल को जींद में ललकार रैली करेंगे। इसमें चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे। महासचिव दलेल सिंह राणा ने कहा कि दो अप्रैल भारत बंद का चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी समर्थन करते हैं और इसमें बढ़ चढ़कर हिस्सा लेंगे। इस मौके पर ईश्वर ठाकुर, राजेश मोर, आजाद पांचाल, ऋषिपाल करनाल, सुभाष भट्टी, सतबीर फतेहाबाद, रमेश भिवानी, छज्जूराम, ताराचंद अंबाला, बलजीत कुरुक्षेत्र, नरेश सोनीपत, सूबेखान मेवात, सतपाल पानीपत, रमेश शर्मा मौजूद रहे।