सीआरएसयू को 5वीं बार फिर मिली बीएड कॉलेजों के दाखिले की कमान, 60 हजार सीटों पर होगा दाखिला

Jind News - चौ. रणबीर सिंह विश्वविद्यालय को एक बार फिर से बीएड कॉलेजों में दाखिले की कमान मिली है। उच्चतर शिक्षा निदेशालय के...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 07:50 AM IST
Jind News - haryana news crsu admits admission of bed colleges for 5th time admission to 60 thousand seats
चौ. रणबीर सिंह विश्वविद्यालय को एक बार फिर से बीएड कॉलेजों में दाखिले की कमान मिली है। उच्चतर शिक्षा निदेशालय के अतिरिक्त मुख्य सचिव की ओर से सीआरएसयू प्रशासन सहित प्रदेश की सभी यूनिवर्सिटी को इस बारे में पत्र जारी कर सूचित कर दिया है। सीआरएसयू द्वारा बीएड नियमित के अलावा चार वर्षीय बीएड इंटीग्रेटेड कोर्स, स्पेशल एजुकेशन के दाखिले भी आॅनलाइन करेगा। पिछले पांच साल से लगातार सीआरएसयू को बीएड दाखिले करवाने की जिम्मेदारी मिल रही है। अब फिर सरकार ने सीआरएसयू प्रशासन पर विश्वास जताते हुए यह जिम्मेदारी दी है। इसका खुलासा गुरुवार को सीआरएसयू के वाइस चांसलर प्रो. आरबी सोलंकी ने पत्रकार वार्ता में किया। वीसी ने कहा कि विवि के स्टाफ की बदौलत यह सब संभव हो सका है। पिछले चार सत्रों में एक भी शिकायत बीएड को लेकर सीएम विंडो सहित कहीं भी नहीं आई है। इस समय भी बीएड की वार्षिक परीक्षाएं चल रही हैं और सीआरएसयू द्वारा आठ जिलों के 190 बीएड कॉलेजों के विद्यार्थियों की परीक्षाएं ले रहा है।

उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय के दो विद्यार्थियों का चयन चाइना इंटरप्रोनिशप प्रोग्राम के लिए हुआ है। यह कार्यक्रम एक से 21 जुलाई तक चाइना में होगा। इसमें पूरे भारत से ही 20 छात्र चुने गए हैं, जिसमें दो छात्र विजेंद्र मुदगिल और रवींद्र सिंह एमबीए के छात्र सीआरएसयू से हैं। उन्होंने बताया कि इस साल विवि के विभिन्न 11 संकायों के 125 छात्र प्लेसमेंट हुए हैं और उन्हें नियुक्ति पत्र मिल चुका है। उन्होंने बताया कि विवि में नया टीचिंग ब्लाॅक लगभग तैयार हो चुका है और जुलाई से शुरू होने वाले नए शिक्षा सत्र से नई बिल्डिंग में कक्षाएं लगनी शुरू हो जाएंगी।

पुरानी बिल्डिंग को भी नई बिल्डिंग की तरह बनाने के लिए एनबीसीसी को पत्र लिखा है ताकि यहां पढ़ने वाले विद्यार्थियों को दिल्ली विवि कैंपस की तरह अहसास हो सके। इसके अलावा लाइब्रेरी बिल्डिंग तैयार होनी है। इसका एस्टीमेट तैयार कर लिया गया है। यह छह मंजिला लाइब्रेरी ब्लाक बनाया जाएगा। विवि का फोकस संस्कारों पर भी ध्यान देना है। उन्होंने बताया कि जल्द ही नई शिक्षा नीति को लेकर सेमिनार का आयोजन किया जाएगा, जिसमें समाज से अलग-अलग क्षेत्रों के लोगों को बुलाकर उनके विचार लिए जाएंगे और उसे मंत्रालय के पास भेजा जाएगा। इस अवसर पर रजिस्ट्रार डॉ. राजबीर सिंह, परीक्षा नियंत्रक राजेश बंसल, प्रो. एसके सिन्हा मौजूद रहे।


वीसी प्रो. आरबी सोलंकी।

दिल्ली या गुड़गांव में होगा कार्यक्रम

विद्यार्थियों को रोजगार दिलाने के लिए विवि द्वारा एक नया प्रयास किया जा रहा है। इसके तहत जींद के बाहर रहने वाले उद्योगपतियों से विवि संपर्क कर रहा है, जिसका एक प्रोग्राम दिल्ली या गुड़गांव में 15 जुलाई से पहले करवाया जाएगा ताकि विवि सहित जींद के लोगों के लिए रोजगार के अवसर मुहैया हो सके। अब तक 25 से 30 लोगों से बातचीत हो चुकी है।

तैयार किए जाएंगे शिक्षक

वीसी ने बताया कि विश्वविद्यालय द्वारा चार वर्षीय इंटीग्रेटेड टीचर एजुकेशन प्रोग्राम शुरू किया जाएगा। इसमें प्री प्राइमरी और प्राइमरी के शिक्षक तैयार किए जाएंगे।

अब तक नहीं मिली रिपोर्ट

विवि में एक शिक्षिका द्वारा गुमनाम पत्र भेजने तथा एक अन्य छात्रा द्वारा आईसीसी को शिकायत करने के मामले में वीसी ने बताया कि अब तक किसी भी मामले में उन्हें रिपोर्ट नहीं मिली है। जैसे ही रिपोर्ट मिलेगी, वैसे कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने इतना जरूर कहा कि कुछ विद्यार्थियों ने पास होने के लिए दबाव बनाने का प्रयास किया, लेकिन उन्हें समझा दिया गया कि बिना पढ़ाई किए दबाव के साथ पास नहीं किया जाएगा।

X
Jind News - haryana news crsu admits admission of bed colleges for 5th time admission to 60 thousand seats
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना