पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Jind News Haryana News Five Years Later The Condition Of Drought In The District Again In July Dry Weather Is Getting Dry

पांच साल बाद जिले में जुलाई में फिर बने सूखे जैसे हालात, आषाढ़ निकल रहा सूखा

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
ठीक 5 साल बाद जिले में जुलाई में सूखे जैसे हालात बन रहे हैं। माॅनसून की बेरुखी से जिले में जुलाई के 12 दिनों में औसत 8 एमएम ही बारिश हुई है। इससे पहले वर्ष 2014 में हालात कुछ ऐसे ही बने थे। इस दौरान पूरे जुलाई में जिले में औसत 11 एमएम बारिश ही हुई थी। यदि जल्द ही जिले में बारिश नहीं होगी तो इससे किसानों की परेशानी काफी बढ़ जाएगी। बारिश न होने का धान की फसल पर भी काफी प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।

अमूमन हर साल जुलाई के शुरू से लेकर अंत तक जिले में अच्छी बारिश होती रही है लेकिन इस बार ऐसा नहीं हुआ। माॅनसून के सक्रिय न होने के कारण जहां लोग उमस भरी गर्मी से परेशान हैं वहीं किसानों की चिंता भी लगातार बढ़ती जा रही है। किसानों के लिए धान की फसल में पानी रख पाना इन दिनों काफी मुश्किल हो रहा है। बारिश न होने से किसानों का फसल पर आने वाला खर्च भी लगातार बढ़ता जा रहा है।

शनिवार को भी दिनभर आसमान में धूल का गुबार छाया रहा। दिनभर 25 किलोमीटर प्रतिघंटा की स्पीड से नाॅर्थ वेस्ट दिशा से धूल भरी हवा चली। इसके कारण लोगों विशेषकर बुजुर्गों को सांस लेने में दिक्कतों का सामना करना पड़ा रहा है। वातावरण में छाए धूल के कणों के कारण दमा रोगियों की परेशानी बढ़ गई है। धूल भरी हवा चलने के कारण दिनभर लोग आंख मसलते रहे।

जुलाई में हुई औसत बारिश का ब्याेरा

वर्ष बारिश (एमएम)

2014 11

2015 105

2016 143

2017 65

2018 54

2019 08 अब तक

सोमवार से बन रही बारिश की संभावना

हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम वैज्ञानिक डाॅ. मदनलाल खीचड़ का कहना है कि आसमान में जो धूल का गुबार छाया है उससे सोमवार को राहत मिल सकती है। इस दौरान माॅनसून बारिश होने की संभावना बन रही है। जुलाई में बारिश न होने से खरीफ की फसलों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है और इससे किसानों की चिंता बढ़ना स्वभाविक है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें