मैं हूं परम पुरख को दासा, देखन आयोग जगत तमाशा...

Jind News - दशमगुरु पातशाह गुरु गोबिंद सिंह के आगमन दिवस को रविवार को मनाया गया। गुरुद्वारा तेग बहादुर साहिब में अमृत सवेरे...

Bhaskar News Network

Jan 14, 2019, 03:26 AM IST
Jind News - haryana news i am the supreme pr
दशमगुरु पातशाह गुरु गोबिंद सिंह के आगमन दिवस को रविवार को मनाया गया। गुरुद्वारा तेग बहादुर साहिब में अमृत सवेरे श्रद्धालुओं ने सरोवर में स्नान करके गुरु ग्रंथ साहिब के समक्ष माथा टेक कर गुरु के आगमन दिवस के प्रति प्रेम का इजहार किया। गुरुद्वारे में सारा दिन लंगर की सेवा जारी रही।

गुरुद्वारा गुरुतेग बहादुर साहिब में धार्मिक दीवान सजाए गए। इसमें गुरुद्वारा साहिब के रागी जत्थे भाई जसबीर सिंह ने एक पिता एकस के हम बारिग, तहे प्रकाश हमारा भयो-पटना शहर विखै भव लयो, मैं हूं परम पुरख को दासा, देखन आयोग जगत तमाशा, वाहो-वाहो गुरु गोबिंद सिंह आपे गुरु चेला, धन-धन हमारे भाग, घर आया पिरू मेरा आदि गुरुबाणी शब्दों द्वारा संतों को निहाल किया। कुरुक्षेत्र से आए गुरपाल सिंह ने गुरु गोबिंद सिंह को एक महान कवि, तपस्वी होने के साथ एक महान योद्धा भी करार दिया। उन्होंने बताया कि जब जुल्म की हद खत्म हो जाए यानी की इंसान की सहनशीलता जवाब दे जाए तो जुल्म के खिलाफ आवाज उठानी चाहिए। उन्होंने अपनी कविता चार पुत वारे, पंजवी मां वारी, छेवां बाप वारया, सतवां आप वारया, सात वार के कहना, भाणा मीठा लागे तेरा, सरबंश दानिया, देना कौन देऊगा तेरा में माहौल को तरूणामय बना दिया। इस मौके पर मनोज वधवा, सिकंदर सिंह, परमजीत सेठी, हरकीरत सिंह, टहल सिंह, गुरविंद्र सिंह, कृपाल सिंह, इंद्रजीत सिंह, कमलजीत ग्रेवाल, जत्थेदार गुरजिंद्र सिंह, जोगेंद्र सिंह पाहवा, जसबीर सिंह टीटी, कुलवंत सिंह, दर्शन सिंह कोचर, सरदार सिंह, राम सिंह, परमजीत सिंह, हरबंस सिंह, सतनाम सिंह, दर्शन सिंह, निरंजन सिंह मौजूद रहे।

जींद. जसबीर सिंह का रागी जत्था गुरबाणी सुनाते हुए।

X
Jind News - haryana news i am the supreme pr
COMMENT