• Hindi News
  • Haryana
  • Jind
  • Jind News haryana news to promote horticulture farming the department has released a budget of rs 6 crore 88 lakhs

बागवानी खेती को बढ़ावा देने के लिए विभाग ने जारी किया 6 करोड़ 88 लाख रुपए का बजट

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:00 AM IST

Jind News - जिले में बागवानी खेती के लिए प्रेरित करने को लेकर विभाग ने वर्ष 2019-20 का छह करोड़ 88 लाख रुपए का बजट जारी किया है।...

Jind News - haryana news to promote horticulture farming the department has released a budget of rs 6 crore 88 lakhs
जिले में बागवानी खेती के लिए प्रेरित करने को लेकर विभाग ने वर्ष 2019-20 का छह करोड़ 88 लाख रुपए का बजट जारी किया है। बागवानी विभाग इसके लिए समृद्ध किसानों को बागवानी खेती करने पर अलग-अलग किश्तों में अनुदान राशि देगा।

इससे किसान अनुदान राशि को बागवानी खेती का रकबा बढ़ा सकेंगे वहीं उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा। विभाग ने अलग-अलग फसल पर अलग-अलग अनुदान राशि जारी की है। यह अनुदान राशि किसानों को एक साल तक वितरित की जाएगी। बागवानी विभाग मधुमक्खी पालन करने वाले किसानों को 40 प्रतिशत तक अनुदान राशि देगा। वहीं अन्य फसलों पर भी प्रतिशत के हिसाब से ही राशि दी जाएगी।

अनुदान राशि लेने के लिए किसानों को बागवानी विभाग की शर्तें भी पूरी करनी होगी। तभी वह अनुदान राशि ले सकेंगे। वहीं वर्ष 2019-20 के लिए बागवानी विभाग को रकबा बढ़ाने के टारगेट भी दिए गए हैं। जिससे विभाग की टीमें खेतों में जाकर किसानों को बागवानी खेती करने के लिए प्रेरित भी करेंगी।

बागवानी विभाग वर्ष 2019-20 में किसानों को बागवानी खेती के प्रति जागरूक करने के लिए करनाल स्थित हार्टीकल्चर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट लेकर जाएगा। जहां किसानों को मधुमक्खी पालन, नेट हाउस, बाग, सब्जी, फूल आदि की खेती करने की जानकारी भी दी जाएगी।

जींद। बागवानी विभाग का कार्यालय

अमरूद का रकबा 70 हेक्टेयर तक बढ़ाना है, शर्तें पूरी करने पर मिलेगा 8 लाख रुपए अनुदान

विभाग इस साल जिले में अमरूद का 70 हेक्टेयर रकबा बढ़ाएगा। अमरूद का बाग लगाने पर किसानों को आठ लाख रुपए अनुदान राशि दी जाएगी। अमरूद के प्रति हेक्टयेर पर 11 हजार 502 रुपए अनुदान दिया जाएगा। वहीं नींबू के बाग का रकबा 30 हेक्टेयर तक बढ़ाया जाएगा। नींबू का बाग लगाने पर किसानों को देेने के लिए तीन लाख 50 हजार अनुदान राशि की है।

भास्कर न्यूज | जींद

जिले में बागवानी खेती के लिए प्रेरित करने को लेकर विभाग ने वर्ष 2019-20 का छह करोड़ 88 लाख रुपए का बजट जारी किया है। बागवानी विभाग इसके लिए समृद्ध किसानों को बागवानी खेती करने पर अलग-अलग किश्तों में अनुदान राशि देगा।

इससे किसान अनुदान राशि को बागवानी खेती का रकबा बढ़ा सकेंगे वहीं उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा। विभाग ने अलग-अलग फसल पर अलग-अलग अनुदान राशि जारी की है। यह अनुदान राशि किसानों को एक साल तक वितरित की जाएगी। बागवानी विभाग मधुमक्खी पालन करने वाले किसानों को 40 प्रतिशत तक अनुदान राशि देगा। वहीं अन्य फसलों पर भी प्रतिशत के हिसाब से ही राशि दी जाएगी।

अनुदान राशि लेने के लिए किसानों को बागवानी विभाग की शर्तें भी पूरी करनी होगी। तभी वह अनुदान राशि ले सकेंगे। वहीं वर्ष 2019-20 के लिए बागवानी विभाग को रकबा बढ़ाने के टारगेट भी दिए गए हैं। जिससे विभाग की टीमें खेतों में जाकर किसानों को बागवानी खेती करने के लिए प्रेरित भी करेंगी।

बागवानी विभाग वर्ष 2019-20 में किसानों को बागवानी खेती के प्रति जागरूक करने के लिए करनाल स्थित हार्टीकल्चर ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट लेकर जाएगा। जहां किसानों को मधुमक्खी पालन, नेट हाउस, बाग, सब्जी, फूल आदि की खेती करने की जानकारी भी दी जाएगी।

नींबू के बाग पर 12 हजार रुपए प्रति हेक्टेयर के हिसाब से अनुदान, नीम की खद और तेल भी मिलेगा

नींबू के प्रति हेक्टयेर पर 12 हजार अनुदान के रूप में दिए जाएंगे। यह राशि साल में तीन किश्तों में दी जाएगी। इसके अलावा अाॅर्गेनिक खाद के लिए 400 हेक्टेयर पर चार लाख 80 हजार रुपए अनुदान दिया जाएगा। वहीं नीम खाद व नीम तेल दिया जाएगा। इस पर 30 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। इससे किसानों को 1200 रुपए प्रति हेक्टेयर सब्सिडी दी जाएगी। इसके साथ-साथ विभाग ने पावर टीलर, छोटा ट्रैक्टर, स्प्रे पंप, बैट्री वाले छोटे स्प्रे पंप पर भी सब्सिडी देने का प्रावधान किया है।

मधुमक्खी पालने के लिए बनवाने होंगे 150 बक्शे

विभाग के पास मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देने के लिए 150 बक्सों का टारगेट आया है। इस पर किसान को 40 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। किसानों को बक्शेे सरकारी सेंटर रामनगर (कुरुक्षेत्र) से बनवाने होंगे। उसके बाद विभाग को डॉक्यूमेंट व बक्शे दिखाने होंगे। फिर विभाग की टीम मौके पर जाकर चेक करेगी। उसके बाद ही किसानों को सब्सिडी दी जाएगी। इसके अलावा जो किसान मोबाइल वेडिंग कार्ट (रिक्शा) लेना चाहता है। उसे 50 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी।

बागवानी खेती करने वाले किसानों को मिलेगी छूट


वीरेंद्र हुड्डा

Jind News - haryana news to promote horticulture farming the department has released a budget of rs 6 crore 88 lakhs
X
Jind News - haryana news to promote horticulture farming the department has released a budget of rs 6 crore 88 lakhs
Jind News - haryana news to promote horticulture farming the department has released a budget of rs 6 crore 88 lakhs
COMMENT

किस पार्टी को मिलेंगी कितनी सीटें? अंदाज़ा लगाएँ और इनाम जीतें

  • पार्टी
  • 2019
  • 2014
336
60
147
  • Total
  • 0/543
  • 543
कॉन्टेस्ट में पार्टिसिपेट करने के लिए अपनी डिटेल्स भरें

पार्टिसिपेट करने के लिए धन्यवाद

Total count should be

543