• Hindi News
  • Haryana News
  • Kadma
  • लघु सचिवालय के गेट पर सुरक्षा कर्मी ने महिला से किया अभद्र व्यवहार, लोगों ने जमकर काटा बवाल
--Advertisement--

लघु सचिवालय के गेट पर सुरक्षा कर्मी ने महिला से किया अभद्र व्यवहार, लोगों ने जमकर काटा बवाल

लघु सचिवालय के बाहर धरने पर बैठी महिलाओं के साथ गेट पर तैनात सुरक्षाकर्मी द्वारा अभद्र व्यवहार किए जाने पर दलित...

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 02:30 AM IST
लघु सचिवालय के बाहर धरने पर बैठी महिलाओं के साथ गेट पर तैनात सुरक्षाकर्मी द्वारा अभद्र व्यवहार किए जाने पर दलित महापंचायत संघ के आक्रोशित कार्यकर्ताओं ने प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की तथा सचिवालय का रास्ता जाम कर दिया। सावित्री बाई फुले महिला एवं बाल विकास ट्रस्ट की चेयरमैन सविता काजला ने एसपी को लिखित में शिकायत देकर आरोपी पुलिस अधिकारी के खिलाफ मामला दर्ज करवाने की मांग की।

दलित महापंचायत संघ के तत्वावधान में सोमवार को दलित समाज के कार्यकर्ता लघु सचिवालय के बाहर धरने पर बैठ गए। कार्यकर्ता सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। जब कार्यकर्ता अधिकारी को ज्ञापन देने के लिए अंदर जाने लगे तो सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें रोक दिया। इस पर सुरक्षा कर्मचारियों व ज्ञापन देने जा रहे लोगों के बीच कहा सुनी हो गई। सविता काजला नामक महिला ने सुरक्षाकर्मी दिलबाग पर अभद्र व्यवहार करने का आरोप लगाया। इस पर आक्रोशित आंदोलनकारी लघु सचिवालय के गेट पर ही बैठ गए। इससे सचिवालय जाने का रास्ता लगभग आधा घंटे तक बंद रहा। सूचना पर सिटीएम महेश कुमार सचिवालय गेट पर पहुंचे तथा उन्होंने आंदोलनकारियों को समझाया। इस पर आंदोलनकारियों ने कहा कि दिलबाग के खिलाफ एससी एसटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया जाए। इसके बाद सिटीएम चार पांच लोगों को अंदर ले गए। इसके बाद ही मामला शांत हुआ। इस संबंध में लघु सचिवालय के बाहर तैनात सुरक्षा कर्मी दिलबाग ने बताया कि महिला के साथ अभद्र व्यवहार करने जैसी कोई बात नहीं है। भीड़ अंदर घुसने का प्रयास कर रही थी। उन्होंने गेट के आगे से हटने के लिए कहा था। मामले से उच्चाधिकारियों को भी अवगत करवा दिया गया है। महिला ने जो आरोप लगाए है वे सभी गलत हैं।

इससे पूर्व धरने को संबोधित करते हुए संघ के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप भुक्कल ने कहा कि अगर दलितों की मांगों को चार फरवरी तक पूरा नहीं किया गया तो सरकार की तरफ चार फरवरी को मनाई जा रही रविदास जयंती का विरोध किया जाएगा तथा समाज अलग से जयंती मनाएगा। उन्होंने बताया कि गरीब व दलित परिवारों की महिलाओं व बच्चों का अकेले बाहर निकलना दुर्लभ हो गया है। भैणी ठाकरान में 29 अगस्त को हाई कोर्ट के फैसले पर भी प्रशासन ने दलितों को प्लाट देने से मना कर दिया है। धरने में मीनू काजल, सुभाष चोपड़ा, रमन कलोरिया, जोगेंद्र छपार, अंबेडकर छात्र मोर्चा के जिला अध्यक्ष राजेश ग्रेवाल, जयभगवान, अंगूरी देवी, नाभा देवी, रामबाई, सरला, पवन गौरिया, जगदीप, रविंद्रा, आशीष काजल आिद मौजूद थे।


X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..