Hindi News »Haryana »Kadma» बौंदकलां में एसबीआई में सेंधमारी, स्ट्रॉन्ग रूम का सेफ नहीं टूटने से बचे 9 लाख

बौंदकलां में एसबीआई में सेंधमारी, स्ट्रॉन्ग रूम का सेफ नहीं टूटने से बचे 9 लाख

भास्कर न्यूज | बौंदकलां (चरखी-दादरी) चोरों ने दादरी-रोहतक मुख्य मार्ग स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में दीवार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 16, 2018, 03:10 AM IST

भास्कर न्यूज | बौंदकलां (चरखी-दादरी)

चोरों ने दादरी-रोहतक मुख्य मार्ग स्थित भारतीय स्टेट बैंक की शाखा में दीवार तोड़कर सेंध लगाने का प्रयास किया, लेकिन स्ट्रांग रूम की सेफ को तोड़ने में चोर असफल रहे। इससे करीबन 9 लाख रुपये चोरी होने से बच गए। पुलिस ने बैंक प्रबंधक की शिकायत पर चोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है।

सोमवार सुबह कार्यकारी मैनेजर धीरज शर्मा और अन्य स्टॉफ सदस्य बैंक में पहुंचे तो समीप के दुकानदारों ने बताया कि बैंक की कुछ फाइलें पीछे गली में पड़ी हुई है। बैंक मैनेजर ने गली में देखा तो कागज मिले। बैंक की दीवार टूटी पड़ी थी, छत पर भी बैंक की फाइल पड़ी हुई थी। प्रबंधन ने जब बैंक खोला तो कंप्यूटर, फाइल, चेयर और अन्य सामान बिखरा पड़ा था। एसबीआई की शाखा में सेंध लगनी की यह पहली वारदात नहीं हुई है। इससे पहले 11 मई 2017 को भी चोरों ने बैंक के पीछे की साईड से दरवाजा तोड़कर अंदर घुसने का असफल प्रयास किया था। इसके बाद एक बार ओर इसी शाखा को चोरों ने निशाना बनाया था, लेकिन पुलिस पहले वाली वारदात को भी अभी तक भी नहीं सुलझा पाई है।

सोनीपत में हत्या कर नाबालिग दाेस्त का शव नहर में बहाने वाले चार दोषियों को उम्रकैद

भास्कर न्यूज | सोनीपत

नाबालिग दोस्त की हत्या कर शव नहर में फेंकने के मामले में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश डॉ. सुशील कुमार गर्ग की कोर्ट ने सोमवार को फैसला सुनाया। मामले में दोषी धर्मबीर, प्रवीण, सोनू व आशीष को उम्रकैद की सजा सुनाई है, जबकि सचिन को बरी कर दिया। दोषियों पर 35-35 हजार रुपए जुर्माना भी किया है। जुर्माना न देने पर दोषियों काे एक साल की अतिरिक्त कैद काटनी होगी।

बता दें कि दो फरवरी, 2015 को गांव हलालपुर निवासी तेज सिंह ने थाना खरखौदा में शिकायत देकर बताया था कि उसके नाबालिग बेटे रोहित को 27 जनवरी 2015 को गांव के ही युवक आशीष उर्फ पकोड़ा, सोनू उर्फ गप्पड और सन्नी उर्फ सचिन व अन्य दो से तीन युवक घर से बुलाकर ले गए थे। बेटा देर रात तक घर नहीं लौटा। पुलिस ने इस संदर्भ में मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी थी। घटना के दिन आरोपी आशीष, सन्नी, कर्मबीर और धर्मबीर की सोनीपत कोर्ट में पेशी थी। 2014 में इन चारों पर बारोटा के पास बाइक लूटने का आरोप लगा था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kadma

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×