Hindi News »Haryana »Kadma» एमबीए स्टूडेंट के फर्जी एनकाउंटर में 7 पुलिसकर्मियों की उम्रकैद बरकरार

एमबीए स्टूडेंट के फर्जी एनकाउंटर में 7 पुलिसकर्मियों की उम्रकैद बरकरार

नई दिल्ली | देहरादून में एमबीए स्टूडेंट रणबीर सिंह की फर्जी मुठभेड़ में हत्या के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 07, 2018, 04:30 AM IST

नई दिल्ली | देहरादून में एमबीए स्टूडेंट रणबीर सिंह की फर्जी मुठभेड़ में हत्या के मामले में दिल्ली हाईकोर्ट ने उत्तराखंड पुलिस के सात कर्मियों की उम्रकैद की सजा बरकरार रखी है। कोर्ट ने कहा कि कानून के शासन में गैर कानूनी हत्याओं के लिए कोई जगह नहीं है। हालांकि, अपहरण और हत्या की साजिश के दोषी ठहराए गए 10 अन्य पुलिसकर्मियों को हाईकोर्ट ने बरी कर दिया। दो साल की सजा पाने वाले 18वें पुलिसकर्मी को भी दोषमुक्त कर दिया गया। उल्लेखनीय है कि गाजियाबाद निवासी रणबीर नौकरी के लिए देहरादून गया था। 3 जुलाई, 2009 को फर्जी मुठभेड़ में उसे मार दिया गया था। सीबीआई जांच में पता चला कि पुलिसकर्मियों ने दुश्मनी के चलते यह हत्या की थी। रणबीर के शरीर पर गोलियों के 29 निशान थे। कुल 18 पुलिसकर्मी आरोपी बनाए गए। रणबीर के परिवार की मांग पर मार्च 2010 में मुकदमा देहरादून से दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट में ट्रांसफर कर दिया गया। तीस हजारी कोर्ट ने 17 पुलिसकर्मियों को उम्रकैद की सजा सुनाई थी, जबकि एक अन्य को दो साल की सजा सुनाई थी। दोषियों ने इस फैसले को दिल्ली हाईकोर्ट में चुनौती दी थी।

कोर्ट ने कहा- गैर कानूनी हत्याओं की कानून के शासन में कोई जगह नहीं

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kadma

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×