• Home
  • Haryana News
  • Kaithal
  • जाट संघर्ष समिति ने कहा-सरकार चार बार कर चुकी वादे-नहीं किए पूरे, आज बनाएंगे रणनीति
--Advertisement--

जाट संघर्ष समिति ने कहा-सरकार चार बार कर चुकी वादे-नहीं किए पूरे, आज बनाएंगे रणनीति

अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति अध्यक्ष मंडल हरियाणा की बैठक गांव प्यौदा में हुई। प्रदेश संयोजक भरत सिंह...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:20 AM IST
अखिल भारतीय जाट आरक्षण संघर्ष समिति अध्यक्ष मंडल हरियाणा की बैठक गांव प्यौदा में हुई। प्रदेश संयोजक भरत सिंह बेनीवाल, उप-प्रधान साधू राम प्योदा व जिला प्रधान जोगिंद्र सिंह कसान ने कहा कि 11 फरवरी को प्रदेश भाजपा सरकार व यशपाल मलिक के बीच हुए समझौते फिर पूरे नहीं हुए। दिल्ली में केंद्रीय मंत्री चौ. बीरेंद्र सिंह की मौजूदगी में छह जातियों को आरक्षण देने व सभी आंदोलन के मुकदमे 31 मार्च 2018 तक वापस करने का वादा हुआ था। इससे पहले भी तीन बार वादा हो चुका था। पर किसी भी बार सरकार अपनी बात पर खरी नहीं उतरी। पिछड़ा वर्ग आयोग द्वारा उच्च न्यायालय व सरकार को रिपोर्ट न सौंपे जाने से भी यशपाल मलिक के समझौतों की पोल जाट समाज के सामने खुल चुकी है। भाजपा सरकार व यशपाल मलिक दोनों मिलकर जाटों समेत सभी छह जातियों के साथ आरक्षण के मुद्दे पर खेल रहे हैं। जब तक प्रदेश में भाजपा सरकार है और आंदोलन के बीच में यशपाल मलिक रहेगा। तब तक न तो आंदोलन के मुकदमे रद्द होंगे और न ही जाटों समेत छह जातियों को आरक्षण मिल सकता है। कहा 1 अप्रैल को सिवाणी जिला भिवानी में प्रदेश स्तरीय बैठक कर आगे निर्णय लेंगे।

बैठक में सैकड़ों खाप प्रतिनिधि तथा पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय से 50 से भी ज्यादा वकील हिस्सा लेंगे। मौके पर ईश्वर गिल प्यौदा, कपूर सिंह देवीगढ, सूरजभान सेगा, बलवान मलिक सिरटा, टेकराम ढांडा संदलखेडी, सतपाल जागलान रेहड़ा, भान प्योदा, गजे सिंह चहल व कर्म सिंह भी मौजूद रहे।