• Home
  • Haryana News
  • Kaithal
  • देर रात तक हिसाब-किताब में जुटे रहे कर्मचारी
--Advertisement--

देर रात तक हिसाब-किताब में जुटे रहे कर्मचारी

भास्कर न्यूज | कैथल वर्ष 2017-18 के अंतिम दिन क्लोजिंग डे पर जिला की नगर परिषद व पालिकाओं के कर्मचारियों को एक तरह से...

Danik Bhaskar | Apr 01, 2018, 02:20 AM IST
भास्कर न्यूज | कैथल

वर्ष 2017-18 के अंतिम दिन क्लोजिंग डे पर जिला की नगर परिषद व पालिकाओं के कर्मचारियों को एक तरह से सौगात मिल गई है।

उनके अटके वेतन की राशि रिलीज करने के लिए सरकार की ओर से एक दिन पहले ही परमिशन दी गई तो शनिवार को 2 करोड़ 18 लाख 47044 रुपए की राशि ट्रेजरी से जारी कर संबंधित बैंकों को भेज दी गई। बैंकों द्वारा यह राशि कर्मचारियों के खाते में देर रात तक ही डाली जाएगी। जिला खजाना कार्यालय में शाम पांच बजे तक ही करीब सवा दस करोड़ के बिल पास किए गए जबकि ट्रेजरी में करीब 13 करोड़ के बिल पेंडिंग रहे।

आॅफिस में ही करना पड़ा डिनर: शनिवार आधी रात तक सरकारी कार्यालयों में कर्मचारी हिसाब-किताब में जुटे दिखाई दिए। काफी कर्मचारियों को तो डिनर का टिफिन भी कार्यालय में मंगवाना पड़ा। पुराने बिलों व अकाउंट्स के कामों के लिए डीसी ने कार्यालयों को आधी रात तक खुले रखने के आदेश डीसी की ओर से दिए गए थे। जिला लघुसचिवालय में खासकर ट्रेजरी आॅफिस, डीआरओ आॅफिस, फूड सप्लाई विभाग, डीसी, एडीसी व एसडीएम कार्यालयों के अलावा डीडीपीओ समेत लगभग सभी सरकारी कार्यालय खुले रहे। इसी प्रकार बैंकों में क्लोजिंग डे का असर पूरी तरह दिखाई दिया। बैंक कर्मी तो आधी रात के बाद तक अपनी सीटों पर बैठकर ड्राॅ व डिपोजिट लेनदेन राशि आंकड़ों के फेर में उलझे दिखाई दिए।

वित्तवर्ष के अंतिम दिन आधी रात तक खुले रहे सरकारी कार्यालय, डीसी ने दिए थे निर्देश