Hindi News »Haryana »Kaithal» सांघन सरपंच पर पहले छेड़छाड़, स्नेचिंग व मारपीट, अब कब्रिस्तान की दीवार गिराने का केस

सांघन सरपंच पर पहले छेड़छाड़, स्नेचिंग व मारपीट, अब कब्रिस्तान की दीवार गिराने का केस

गांव सांघन सरपंच व भाजपा के पाडला मंडल अध्यक्ष सुरजीत सिंह पर अब कब्रिस्तान की दीवार गिराने और जान से मारने की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 02:25 AM IST

सांघन सरपंच पर पहले छेड़छाड़, स्नेचिंग व मारपीट, अब कब्रिस्तान की दीवार गिराने का केस
गांव सांघन सरपंच व भाजपा के पाडला मंडल अध्यक्ष सुरजीत सिंह पर अब कब्रिस्तान की दीवार गिराने और जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज हुआ है। सरपंच बनने के बाद से ही सुरजीत सिंह विवादों से जुड़े रहे हैं। कभी पटवारी से मारपीट तो कभी ठेकेदार से स्नेचिंग के आरोप लगे।

बीते सप्ताह ही गांव की महिला ने सरपंच के खिलाफ एसपी को छेड़छाड़ की शिकायत दी थी और शनिवार शाम संगतपुरा चौकी पुलिस ने उस पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का केस दर्ज कर लिया। मामले की शिकायत कैथल के बीडीपीओ सुमित चौधरी ने पुलिस को दी है। आरोप है कि 20 मार्च को सुरजीत सिंह व अन्य लोगों ने कब्रिस्तान की दीवार गिरा दी। विरोध करने पर आरोपियों ने समुदाय के लोगों को जान से मारने की धमकी भी दी।

एक साल से चल रहा

कब्रिस्तान विवाद

गांव सांघन में मुस्लिम समुदाय के 12 परिवार रहते हैं और सड़क के पास ही कब्रिस्तान की जमीन है, जिस पर गांव के ही लोगों ने कब्जा किया है। 25 मार्च 2017 को 80 वर्षीय बुजुर्ग जीमू खान की मौत हो गई थी। परिवार के लोग शव दफनाने गए तो कब्जा करने वालों ने शव नहीं दफनाने दिया। इसको लेकर काफी विवाद हुआ और चार घंटे बाद भारी पुलिस बल की मौजूदगी में शव दफनाया जा सका था। इसके 10 दिन बाद ही बुजुर्ग की कब्र उखाड़ दी थी। विवाद बढ़ा तो 26 सितंबर 2017 को प्रशासन ने कब्रिस्तान से कब्जा हटवाया था और दीवार बनाई गई थी। 20 मार्च को वह दीवार गिरा दी, जिसमें सरपंच व अन्य ग्रामीणों पर आरोप है।

2016 में पटवारी से मारपीट का आरोप : 10 मार्च 2016 में जिलेभर के पटवारियों ने लघु सचिवालय व सिविल लाइन थाना में सुरजीत सिंह के खिलाफ प्रदर्शन किया था। आरोप था कि नौ मार्च 2016 को सुरजीत सिंह तहसील में जमीन की नकल लेने आए। पटवारी ने उन्हों लाइन में लगने को कहा तो सुरजीत ने खुद को सरपंच व मंडल अध्यक्ष बताया और लाइन में नहीं लगे। इसी बात पर कहासुनी हो गई। पटवारी का आरोप था कि सुरजीत ने उसके साथ मारपीट की और जातिसूचक गालियां दी।

फरवरी में रुपए छीनने का भी आरोप : इसी साल 18 फरवरी को गांव सांघन के ही शराब ठेकेदार ने सुरजीत के खिलाफ रुपए छीनने के आरोप लगाए थे। आरोप था कि सुरजीत ने उसकी कार को साइड मारी और एक लाख रुपए कैश छीनकर फरार हो गया। इस मामले में पुलिस ने भी सरपंच पर पुलिस नाका तोड़ने का आरोप लगाया था।

महिला ने दी थी छेड़छाड़ की शिकायत : 26 मार्च को गांव सांघन की ही महिला ने सुरजीत पर छेड़छाड़ व मारपीट का आरोप लगाकर एसपी को शिकायत दी थी। आरोप था कि 23 मार्च को वह स्कूल से लौट रही थी। रास्ते में सरपंच ने उसके साथ मारपीट व छेड़छाड़ की।

बीते वर्ष सुरजीत सिंह गांव के मौजिज लोगों के साथ कब्रिस्तान विवाद में कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला के निवास पर पहुंचे थे। सुरजेवाला के पास खड़े उनकी फोटो वायरल हो गई और जनता में चर्चा चली कि भाजपा मंडल अध्यक्ष को भी काम करवाने के लिए कांग्रेस नेता के पास जाना पड़ता है। काफी हो हल्ला होने के बाद में सांघन सरपंच सुरजीत ने इस मामले में अपनी सफाई दी थी।

ये आरोप भी लग चुके

मैंने दोनों पक्षों में समझौता कराने का प्रयास किया, आरोप झूठे : सुरजीत

गांव में अल्पसंख्यक व अनुसूचित जाति के लोगों के बीच विवाद चल रहा है। मैंने दोनों पक्षों में समझौता करवाने के कई बार प्रयास किए। मैं कानून का सम्मान करता हूं लेकिन मुझ पर लगाए गए आरोप झूठे हैं। पुलिस जांच में सच्चाई सामने आ जाएगी। -सुरजीत, सांघन सरपंच

बीडीपीओ सुमित चौधरी की शिकायत पर सुरजीत व अन्य के खिलाफ भावनाएं आहत करने व जान से मारने की धमकी देने के आरोप में केस दर्ज किया है। मामले की जांच की जा रही है। एएसआई हरपाल, संगतपुरा चौकी इंचार्ज

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kaithal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×