नप चेयरपर्सन बोलीं-धरना छोड़ विकास में करें सहयोग, आपत्तियां बातचीत से करेंगे दूर

Kaithal News - सिटी व बैंक स्कवेयर में 6 माह से भ्रष्टाचार के आरोप झेल रहीं नगर परिषद चेयरपर्सन सीमा कश्यप ने आज अपने ऑफिस में...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:00 AM IST
Kaithal News - haryana news nope chairperson quotes do not leave the development in development
सिटी व बैंक स्कवेयर में 6 माह से भ्रष्टाचार के आरोप झेल रहीं नगर परिषद चेयरपर्सन सीमा कश्यप ने आज अपने ऑफिस में प्रेसवार्ता की। प्रेसवार्ता में उन्होंने भ्रष्टाचार, सिटी स्कवेयर, धरना व विकास में भेदभाव के आरोपों के जवाब दिए और पार्षदों को धरना समाप्त करने की अपील भी की। चेयरपर्सन ने कहा कि सिटी स्कवेयर में मुझ पर लगाए गए भ्रष्टाचार के आरोप निराधार हैं। विभागीय व अन्य जांच चल रही है। मैं जांच का सामना करने को तैयार हूंं और जो भी नतीजा आएगा सम्मान करूंगी। धरनारत पार्षद मुझसे उम्र व अनुभव में बड़े हैं। मैं उनका सम्मान करती हूंं।

अपील करती हूंं कि वे धरना छोड़ कर शहर के विकास में सहयोगी बनें। मैं नगर परिषद परिवार में उम्र में सबसे छोटी हूं। मुझसे बड़े व अनुभवी पार्षदों की जो भी आपत्तियां हैं उन्हें मिल बैठ कर दूर किया जाएगा। उन्होंने कहा कि आचार संहिता के कारण वार्डों में टेंडर नहीं लगा पाए थे। अब सभी 31 वार्डों में 10.50 करोड़ रुपए के टेंडर लगाए गए हैं, जिनके वर्क ऑर्डर भी तैयार हैं। जल्द ही सभी वार्डों में विकास कार्य आरंभ करवा दिए जाएंगे। किसी वार्ड से भेदभाव नहीं किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सिटी व बैंक स्कवेयर प्रोजेक्ट सीएम की घोषणाओं में शामिल हैं। यहां काम चल रहा है। मैं चाहती हूं कि यह प्रोजेक्ट जल्द पूरा हो शहर वासियों को इसकी सुविधा मिले। इस अवसर पर उनके साथ पार्षद मोहन लाल शर्मा, संजय भौरिया, हरजिंद्र सिंह, विरेंद्र सैनी मौजूद रहे।

ठेकेदार को फायदा पहुंचाने के आरोप में सीमा कश्यप समेत 11 अधिकारियों के खिलाफ दर्ज हुई थी एफआईआर

पत्रकारों को संबोधित करतीं नगर परिषद चेयरपर्सन सीमा कश्यप व अन्य।

कांग्रेसी चेयरपर्सन इसलिए भाजपाइयाें को दिक्कत : मोहनलाल

प्रेसवार्ता के दौरान ही पार्षद मोहन लाल शर्मा ने कहा कि नगर परिषद में कांग्रेसी चेयरपर्सन होने के कारण भाजपाई परेशान हैं। भाजपा समर्थित पार्षद मात्र अधिकारियों पर दबाव बनाने व समाचारों की सुर्खियां बनने के लिए धरना दे रहे हैं। उन्हें आपसी मनमुटाव छोड़ विकास की राह पर आना चाहिए। उन्होंने कहा कि हाउस की मीटिंग में भी अकारण हंगामा किया गया। बैठक में 13 एजेंडों पर शहर के हित के लिए ही बात की जानी थी लेकिन वहां से भी बैठक को छोड़ आए। यह केवल राजनीति चमकाने के लिए किया जा रहा है। इससे कुछ हासिल होने वाला नहीं है।

भाजपा समर्थित पार्षदों के वार्ड से भेदभाव : यशपाल

पूर्व चेयरमैन यशपाल प्रजापति ने कहा कि चेयरपर्सन भाजपा समर्थित पार्षदों के वार्डों से पूरी तरह से भेदभाव कर रही हैं। वहां टेंडर नहीं लगाए जा रहे हैं। उनका संघर्ष भ्रष्टाचार के खिलाफ है। मामले में चेयरपर्सन समेत 11 अधिकारियों पर एफआईआर दर्ज हो चुकी है। जब तक भ्रष्टाचार के आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होती, तब तक उनका धरना जारी रहेगा। शहर अंधेरे में डूबा है। चेयरपर्सन व अधिकारी आंख बंद कर बैठै हैं। आज तक इनसे रेट तक तय नहीं हैं। ये कैसा विकास करेंगे। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है।

बीजेपी समर्थित पार्षदों का 18वें दिन भी धरना जारी

सिटी स्कवेयर में भ्रष्टाचार के मामले संलिप्त चेयरपर्सन व अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग को लेकर 18वें दिन भी भाजपा समर्थित पार्षदों का धरना जारी रहा। धरने पर पूर्व चेयरमैन यशपाल प्रजापति, प्रवीण शर्मा, प्रवीण सिंगला, वरुण मित्तल, दीपक शर्मा, कृष्ण सैनी, संजय गर्ग, गोपाल सैनी, धर्मवीर भोला, भीम सेन अग्रवाल, सुरेंद्र कुमार उपस्थित रहे। भाजपा समर्थित पार्षदों के धरने पर गुरुवार को दुष्यंत चौटाला के आने की सुबह से ही चर्चा रही। चौटाला पार्षद राकेश सरदाना की दुकान पर तो पहुंचे लेकिन दो बजे तक धरना स्थल पर नहीं आए थे। धरने पर दुष्यंत चौटाला के आने की सूचना पर गुप्तचर विभाग के अधिकारी भी वहां खड़े रहे। लेकिन पार्षद तय समय दो बजे धरना समाप्त करके चले गए।

पार्षदाें का जवाब: हमारे वार्डों से भेदभाव हो रहा, भ्रष्टाचार के खिलाफ जारी रहेगा आंदोलन

X
Kaithal News - haryana news nope chairperson quotes do not leave the development in development
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना