गांधी बस्ती के लोग बाेले-बुधवार तक बस्ती में बिजली न पहुंची तो एक्सईएन कार्यालय पर बच्चों समेत देंगे धरना

Kaithal News - पीड़ल की महात्मा गांधी बस्ती में बिजली व पेयजल की सुविधा न होने के चलते तालाब का गंदा पानी पीने का मजबूर बस्ती...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 07:21 AM IST
Cheeka News - haryana news people of gandhi basti did not get electricity in basti until wednesday wednesday
पीड़ल की महात्मा गांधी बस्ती में बिजली व पेयजल की सुविधा न होने के चलते तालाब का गंदा पानी पीने का मजबूर बस्ती वासियों ने अब विरोध का रास्ता अपनाने का फैसला कर लिया है।

बस्ती वासी दलबीर सिंह, रणधीर सिंह, रिसाला राम, बबली देवी, रानी देवी, जंगीरो, संतोष, सरोज, शीला ने ऐलान किया कि यदि सरकार उनकी बस्ती में आने वाले बुधवार तक बिजली मुहैया नहीं करवाती तो वीरवार से बस्ती व बसती से बाहर रह रहे सभी 185 परिवार अपने बच्चों सहित एक्सईएन बिजली विभाग चीका के कार्यालय के समक्ष अनिश्चितकालीन धरने पर बैठेंगे। दलबीर सिंह ने कहा कि सरकार ने साल 2007 में बीपीएल परिवारों को सौ सौ गज के प्लाॅट दिए थे। प्लाट काटने के बाद सरकार ने यहां किसी भी प्रकार की सुविधा मुहैया नहीं करवाई। दलबीर सिंह ने बताया कि बस्ती में बिजली लाने के लिए वह पिछले कई वर्षों से सरकारी कार्यालयों के चक्कर लगाता रहा है। उन्होंने बताया कि दो साल पहले बस्ती में बिजली पहुंचाने का रास्ता साफ हो गया था। विभाग की तरफ से बिजली के खंभे व दूसरा सामान बस्ती में भेजा गया था लेकिन अधिकारियों की मनमानी के चलते ना तो बिजली के खंभे खड़े हो पाए और ना ही उन पर तारें खिंची जा सकी है। दलबीर सिंह ने कहा कि बिजली का सारा सामान पिछले दो वर्षों से बस्ती में पड़ा जंग खा रहा है। उन्होंने कहा कि अब बस्ती के लोगों ने फैसला कर लिया है कि जब तक बस्ती में बिजली नहीं पहुंचती तब तक एक्सईएन कार्यालय पर धरना जारी रखेंगे।

खेत खाली होने के बावजूद विभाग नहीं लगा रहा खंभे : बस्ती के लोगों का कहना है वे जब भी बस्ती में बिजली पहुंचाने की मांग को लेकर अधिकारियों से मिलते तो अधिकारियों को जवाब होता था कि अभी खेतों में फसल खड़ी है। वहां पर बिजली के खंभे लगाएंगे तो नुकसान होगा और किसान एतराज करेंगे। दलबीर सिंह ने कहा कि अब खेत पूरी तरह से खाली है और किसानों को भी कोई ऐतराज नहीं लेकिन विभाग के अधिकारी अब भी तरह तरह के बहाने बना मामले को लटका रहे है। बस्ती वासियों ने कहा कि यदि अगले कुछ दिनों किसान अपने खेतों में पानी छोड़ देंगे, जिसके बाद वहां पर खंभे लगाना या तार खींचना असंभव हो जाएगा।

गुहला चीका | बिजली न पहुंचने से खफा महात्मा गांधी बस्ती पीडल के लोग बिजली विभाग के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए।

बिजली पानी के अभाव में तालाब का पानी पीने को मजबूर हैं बस्ती के परिवार

कांग्रेस की हुड्डा सरकार के दौरान पीडल भूना रोड़ गरीब परिवारों को 185 प्लाट दिए गए थे। प्लाट दिए जाने के बाद से ही लगभग एक दर्जन परिवारों ने वहां मकान बनाकर रहना शुरू दिया था। इन लोगों को उम्मीद थी कि बस्ती आबाद होने से यहां पर पानी व बिजली जैसी सुविधाएं सरकार उपलब्ध करवा देगी। लेकिन बारह साल बाद भी ये परिवार बिजली व पानी के बीना गुजारा करने को मजबूर हैं।

X
Cheeka News - haryana news people of gandhi basti did not get electricity in basti until wednesday wednesday
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना