• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Kaithal
  • Kaithal News haryana news story topper isha39s story in the 10th if she reads till two o39clock mother would say she would get sick

10वीं में स्टेट टॉपर ईशा की कहानीः रात दो बजे तक पढ़ती तो मां कहतीं-बीमार हो जाएगी, परीक्षा में तबीयत बिगड़ी लेकिन पढ़ाई नहीं रुकी

Kaithal News - गांव बरटा के धर्मेंद्र रोज 10 किलोमीटर साइकिल चलाकर मजदूरी करने जाते हैं। शुक्रवार को भी गए थे। तभी बेटी ईशा के 10वीं...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 08:05 AM IST
Kaithal News - haryana news story topper isha39s story in the 10th if she reads till two o39clock mother would say she would get sick
गांव बरटा के धर्मेंद्र रोज 10 किलोमीटर साइकिल चलाकर मजदूरी करने जाते हैं। शुक्रवार को भी गए थे। तभी बेटी ईशा के 10वीं में प्रदेश टॉपर बनने की सूचना मिली तो काम छोड़कर तुरंत घर लौटे। दो कमरे के मकान आज ईशा को मिल रही बधाइयों व खुशियों से भरा पड़ा था। धर्मेंद्र तो बस यही कहे जा रहे थे-बाबू जी, आज तो मैं खुद को सबसे अमीर महसूस कर रहा हूं। अब बात ईशा की मेहनत की करें। उसे पढ़ने में खूब रुचि है। जुनून था कि बहुत अच्छे नंबर लेने हैं, इसलिए दो साल से टीवी देखना बंद कर दिया। कभी ट्यूशन का सहारा नहीं लिया।

स्कूल से आने के बाद रात को कभी 12 तो कभी दो बजे तक पढ़ाई करती थी। कई बार मां राजरानी टोकती- इतना मत पढ़, बीमार हो जाएगी। परीक्षा के दिनों में बीमार भी हो गई। मां ने फिर समझाया-अब तो आराम कर ले लेकिन ईशा कहां मानने वाली थी। सभी पेपर अच्छे गए तो इतना उम्मीद तो बंध गई थी कि अच्छी पोजिशन आएगी। शुक्रवार को रिजल्ट घोषित होने के 10 मिनट बाद ही मां के फोन पर ईशा के शिव शिक्षा निकेतन सीनियर सेकेंडरी स्कूल सांघन की प्रिंसिपल शीला देवी की कॉल आई। बधाई देते हुआ कि आपकी बेटी ने प्रदेश में टॉप किया है। मां तो खुशी में कुछ बोल भी नहीं पाईं और बेटी को सीने से लगा लिया।

ईशा को साइंस पसंद है, इसलिए 11वीं में नॉन मेडिकल ली है। बकौल ईशा-आगे के बारे में तो नहीं सोचा, लेकिन 12वीं तक नॉन मेडिकल पढ़कर शौक पूरा करूंगी। वैसे मेरा सपना प्रधानमंत्री बनकर देश की सेवा करने का है। हमारे नेता कहते बहुत कुछ है, लेकिन करते कम है। मैं चाहती हूं कि राजनीति में पढ़े लिखे और योग्य लोग आएं। स्कूल में भी जब कोई कार्यक्रम होता है तो मैं स्पीच जरूर देती हूं।

टॉप 10 में 31 में से 23 लड़कियां शामिल, प्रदेश में 14वें नंबर पर रहा कैथल जिला


कैथल|प्रदेश टॉपर ईशा के साथ माता राजरानी व पिता धर्मेंद्र। फोटो:जसविंदर जस्सी


करीब 8 से 10 घंटे पढ़ाई की, कोई डाउट हुआ तो टीचर से क्लियर करती।

परिचय : पिता धर्मेंद्र (मजदूरी) मां राजरानी (गृहणी)

स्कूल : शिव शिक्षा निकेतन सीनियर सेकेंडरी स्कूल सांघन

श्रेय : प्रिंसिपल शीला देवी, टीचर नरेश कुमार व अभिभावक

विषय अनुसार अंक : हिंदी 99, अंग्रेजी 100, मैथ 100, सोशल साइंस 92, साइंस 96, संस्कृत 100

मजूदरी करता हूं, लेकिन बेटी के सपनों को पंख लगाऊंगा : धर्मेंद्र

पिता धर्मेंद्र ने बताया कि वह 11वीं और उनकी प|ी 9वीं तक पढ़ी है। मजदूरी करने के लिए वह 10 किलोमीटर दूर खनौरी साइकिल पर जाते हैं, लेकिन बेटी को स्कूल बस में भेजते हैं। बेटी का हर संभव सहयोग करेंगे, ताकि वो अपने सपने पूरा कर सके। बेटा मनीष बीए की पढ़ाई कर रहा है।

497/500


प्रदेश में पांचवां व जिले में दूसरा स्थान प्राप्त करने वाली रितु देवी।

सफलता का राज : बिना ट्यूशन 7 घंटे पढ़ाई करके पाया मुकाम

स्कूल : शहीद भगत सिंह पब्लिक स्कूल, बालू

परिचय : पिता सुभाष (किसान), मां सरोज देवी (गृहणी)

श्रेय : गणित शिक्षिका रीना देवी व अभिभावक

विषय अनुसार अंक : हिंदी 92, अंग्रेजी 100, मैथ 100, सामाजिक विज्ञान 97, साइंस 96, म्यूजिक 100


493/500

Kaithal News - haryana news story topper isha39s story in the 10th if she reads till two o39clock mother would say she would get sick
X
Kaithal News - haryana news story topper isha39s story in the 10th if she reads till two o39clock mother would say she would get sick
Kaithal News - haryana news story topper isha39s story in the 10th if she reads till two o39clock mother would say she would get sick
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना