• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Kaithal
  • Kaithal News haryana news the first sanskrit university in the state will be in the first session for admission from yesterday39s application

प्रदेश की पहली संस्कृत यूनिवर्सिटी मेंे प्रथम शिक्षा सत्र के लिए होंगेे दाखिले, कल से करें आवेदन

Kaithal News - कैथल के मूंदड़ी में बनने वाली प्रदेश की पहली संस्कृत यूनिवर्सिटी, महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय के...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:00 AM IST
Kaithal News - haryana news the first sanskrit university in the state will be in the first session for admission from yesterday39s application
कैथल के मूंदड़ी में बनने वाली प्रदेश की पहली संस्कृत यूनिवर्सिटी, महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय के प्रथम शिक्षा सत्र के दाखिले की प्रक्रिया 15 जुलाई से शुरू होगी। यूनिवर्सिटी प्रशासन फिलहाल डाॅ. बीआर अंबेडकर राजकीय कॉलेज की ऊपरी मंजिल की उधार की बिल्डिंग में कक्षाएं शुरू करेगा। अगर दाखिले लेने वाले विद्यार्थियों की संख्या अधिक हुई तो बाहर भी किसी संस्थान की बिल्डिंग को हायर कर सकता है।

24 अक्टूबर 2015 को कैथल के सेक्टर-19 ग्राउंड में आयोजित प्रदेश स्तरीय वाल्मीकि जयंती महोत्सव में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे सीएम मनोहरलाल ने मूंदड़ी गांव में महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय बनाने की घोषणा की थी। सीएम द्वारा घोषित यह यूनिवर्सिटी मूंदड़ी गांव में करीब साढ़े 20 एकड़ जमीन पर बनेगी, लेकिन अभी तक यूनिवर्सिटी का भवन निर्माण शुरू नहीं हो पाया है। करीब आठ करोड़ से चार दीवारी बनाने का काम आरंभ हो गया है। लेकिन घोषणा के तीन साल बाद तक सरकार ने इसका कोई निर्माण शुरू नहीं कराया। काफी इंतजार के बाद 13 अगस्त 2018 को डाॅ. श्रेयांश द्विवेदी को वाइस चांसलर नियुक्त किया है।

शास्त्री व आचार्य के अलावा डिप्लोमा कार्सेेस भी हांेगे, पहले सत्र में सरकारी कॉलेज की ऊपरी मंजिल में लगेंगी कक्षाएं

कैथल|महर्षि संस्कृत विवि के नए सत्र की जानकारी देते कुलपति डॉ. श्रेयांश द्विवेदी।

इन विषयों की पढ़ाई होगी शुरू, नियमित पाठयक्रम:

शास्त्री (बीए): वेद, धर्मशास्त्र, व्याकरणम, ज्योतिष, साहित्य, दर्शन, पुराणोतिहास, अंग्रेजी, हिंदी आदि विषय शामिल हैं। 3 वर्षीय कोर्स के लिए अनिवार्य योग्यता 12वीं, समकक्ष है।

आचार्य (एमए): वेद, धर्मशास्त्र, व्याकरणम, ज्योतिष, साहित्य, दर्शन व पुराणेतिहास विषयों में कराई जाएगी। इसके लिए आवेदक का शास्त्री/बीए/समकक्ष होना जरूरी है।

डिप्लोमा कोर्स: संस्कृत पत्रकारिता- प्रमाणपत्रीय पाठयक्रम कोर्स तीन, छह और एक वर्ष अवधि का कराया जाएगा। इसके लिए बारहवीं पास युवक-युवतियां पात्र होंगे। इसी प्रकार ज्योतिष-प्रमाणपत्रीय पाठयक्रम व अन्य डिप्लोमा कोर्स के भी दाखिले होंगे।

यह है आवेदन का शेड्यूल : यूनिवर्सिटी में दाखिला लेने के लिए 15 जुलाई से 28 जुलाई तक आवेदन जमा होंगे। एक अगस्त को प्रवेश परीक्षा का आयोजन डाॅ. बीआर अंबेडकर राजकीय कॉलेज कैथल में किया जाएगा। यूनिवर्सिटी के कोर्सेस/डिप्लोमा की सीटें आवेदनों के हिसाब से यूनिवर्सिटी प्रशासन निर्धारित करेगा। मूंदड़ी में बनने वाली महर्षि वाल्मीकि संस्कृत विश्वविद्यालय का निर्माण शुरू कराने के लिए 3 मार्च 2019 को सीएम ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए शिलान्यास किया। चारदीवारी निर्माण के लिए बकायदा 8 करोड़ की राशि भी जारी की गई थी लेकिन प्रशासन ने अब तक सिर्फ जमीन की निशानदेही ही कराकर खानापूर्ति की है। चारदीवारी व भवन निर्माण कार्य शुरू कराने की अब तैयारी चल रही है।

दो बार हो चुकी घोषणा : कांग्रेस की हुड्डा सरकार में धनवंतरि आयुर्वेद प्रचार के लिए महर्षि वाल्मीकि लव-कुश योग संस्कृत विवि बनाने की घोषणा हुई थी, जिसका शिलान्यास 24 अप्रैल 2006 को तत्कालीन शिक्षामंत्री फूलचंद मुलाना ने किया था। लेकिन बाद में शिलान्यास पत्थर को उखाड़ दिया गया और यह सिर्फ घोषणा बनकर रह गई। इसके बाद वर्ष 2015 में सीएम मनोहरलाल ने प्रदेश का पहला संस्कृत विश्वविद्यालय मूंदड़ी में खोलने की घोषणा की थी।


X
Kaithal News - haryana news the first sanskrit university in the state will be in the first session for admission from yesterday39s application
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना