• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Kaithal
  • Kaithal News haryana news the garbage raising contract ends at 30 the main cleaning inspector boley eo is not giving meditation the reply of the eo a new tender

कचरा उठान ठेका 30 को हो रहा खत्म, मुख्य सफाई निरीक्षक बोले-ईओ नहीं दे रहे ध्यान, ईओ का जवाब-नया टेंडर लगेगा

Kaithal News - अगले 14 दिन बाद यानि 30 अप्रैल को शहर में कचरा उठान का टेंडर खत्म हो जाएगा। आचार संहिता के चलते नया टेंडर नगर परिषद लगा...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:51 AM IST
Kaithal News - haryana news the garbage raising contract ends at 30 the main cleaning inspector boley eo is not giving meditation the reply of the eo a new tender
अगले 14 दिन बाद यानि 30 अप्रैल को शहर में कचरा उठान का टेंडर खत्म हो जाएगा। आचार संहिता के चलते नया टेंडर नगर परिषद लगा नहीं सकती। ऐसे में शहर की सफाई व्यवस्था ठप हो जाएगी। परिषद के पास अपने इतने संसाधन व कर्मचारी नहीं हैं कि पूरी व्यवस्था को संभाल सकें। ऐसे में परिषद कैसे सफाई व्यवस्था संभालेगी। फिलहाल व्यवस्था बिगड़ती दिख रही है। शहर की सफाई व्यवस्था को संभालने वाले मुख्य सफाई निरीक्षण का आरोप है कि नगर परिषद के ईओ सफाई व्यवस्था पर ध्यान नहीं दे रहे इस कारण अभी तक नया टेंडर प्रक्रिया आरंभ नहीं की गई है।

ऐसे में शहर कचरे से जाम हो जाएगा। उनका कहना है कि अगर उन्हें संसाधन उपलब्ध करवाए जाएं तो सफाई व्यवस्था सुचारु चल सकती है। जबकि ईओ का कहना है कि काम बाधित नहीं होगा। नया टेंडर लगाया जाएगा। जब तक टेंडर प्रक्रिया पूरी होगी काम नगर परिषद के कर्मचारी संभालेंगे। वहीं यह बात भी जानने योग्य है कि आचार संहिता के कारण ही शहर में स्ट्रीट लाइट का टेंडर लटका है। इस कारण शहर के मुख्य व अंदरूनी हिस्सों में शाम होते ही अंधेरा छा जाता है। परिषद व प्रशासन की ओर से इसकी कोई वैकिल्पक व्यवस्था नहीं की गई है, इस कारण लोग परेशान हैं।

काम से अधिकारी नहीं संतुष्ट, इसलिए, 3 साल से काम कर रहे ठेकेदार को इस बार नहीं मिलेगा ठेका

नप कार्यालय से कुछ दूर उठान न होने के कारण पड़ा कचरा।

ठेकेदार परिषद के इन संसाधनों का कर रहा उपयोग : कचरा उठान ठेकेदार इस समय शहर में कचरा उठाने के लिए 85 कर्मचारियों, 17 टिपर चालकों, चार ट्रैक्टरों, जेसीबी, रिफ्यूज कलेक्टर, एक डंपर प्रेशर का प्रयोग कर रहा है। टेंडर नहीं लगाया जाता तो व्यवस्था संभालने के लिए कम से कम परिषद को 10 ट्रैक्टर-ट्राली की आवश्यकता होगी। इसके अलावा कचरा उठाने के लिए एक लोडर मशीन, 85 कर्मचारी, 50 हाथ रिक्शा, 15 टिपरों, एक रिफ्यूज कलेक्टर, एक डंपर प्रेशर, एक जेसीबी के लिए चालक चाहिए।

ठेकेदार मोहन का लगातार 3 साल से पार्षद कर रहे विरोध : नप अधिकारियों को साफ कर दिया है कि पहले की तरह इस बार एसएम इंटरप्राइजिज को उठान का ठेका नहीं दिया जाएगा। क्योंकि अधिकारी इस ठेकेदार के काम से संतुष्ट नहीं हैं। जिस कारण यह निर्णय लिया गया है। ठेकेदार मोहन का लगातार तीन सालों से पार्षद विरोध कर रहे हैं। हाउस की मीटिंग में भी दो बार टेंडर रद्द करने का प्रस्ताव पास हुआ लेकिन आज तक हुआ कुछ नहीं। हर बार ठेकेदार मोहन अधिकारियारियों के दावों को फेल कर ठेका हासिल कर लेता है।

परिषद के पास मात्र 339 सफाई कर्मी, चाहिए 600 : नगर परिषद के पास इस समय 169 पक्के कर्मचारी, 140 ठेके पर व 30 कर्मचारी पे रोल पर हैं। जबकि पूरी व्यवस्था को संभालने के लिए परिषद एरिया में 600 सफाई कर्मचारी चाहिए। इसके अलावा रात की सफाई के लिए अलग से ठेका दिया है, जिसमें 60 कर्मचारी काम कर रहे हैं। कचरा उठान ठेकेदार को सालाना उठान के लिए परिषद दो करोड़ का भुगतान करता है। वेतन न मिलने के कारण आज वाहनों को चलाने वाले चालक काम पर नहीं आए, जिस कारण शहर से उठान नहीं हो सका। जिससे शहर में जगह-जगह कचरे के ढेर लगे हैं। शहर से प्रतिदिन 70 टन कचरा निकलता है, जिसे खुराना गांव के पास बने डंपिंग यार्ड में ले जाया जाता है।





X
Kaithal News - haryana news the garbage raising contract ends at 30 the main cleaning inspector boley eo is not giving meditation the reply of the eo a new tender
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना