नशा तस्करी करने के दोषी दो महिलाओं को एक-एक और युवक को 5 साल का कठोर कारावास

Kaithal News - जिला एवं सत्र न्यायाधीश एमएम धौंचक ने एनडीपीएस अधिनियम 1985 की धारा 21 बी के तहत विभिन्न दो मामलों में अभियुक्तों को...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 08:00 AM IST
Kaithal News - haryana news two women convicted of smuggling drug addiction
जिला एवं सत्र न्यायाधीश एमएम धौंचक ने एनडीपीएस अधिनियम 1985 की धारा 21 बी के तहत विभिन्न दो मामलों में अभियुक्तों को दोषी ठहराते हुए कठोर कारावास एवं जुर्माने की सजा सुनाई।

अदालत ने प्रथम मामले में उरलाना जिला पानीपत निवासी संजय पुत्र पाले राम को 82 ग्राम स्मैक रखने का दोषी करार देते हुए उन्हें 5 वर्ष कठोर कारावास तथा 75 हजार रुपए जुर्माना की सजा सुनाई है। जुर्माना अदा न करने की स्थिति में दोषी व्यक्ति को 9 माह अतिरिक्त सामान्य कारावास की सजा भुगतनी होगी। रिपोर्ट के अनुसार पुलिस द्वारा अभियुक्त को 9 जुलाई 2018 को पकड़ा गया था तथा व्यक्तिगत जांच के दौरान 82 ग्राम स्मैक बरामद की गई थी। सिविल लाइन पुलिस थाना में इसी दिन केस दर्ज किया गया था। पुलिस द्वारा न्यायालय में 8 मार्च 2019 को चालान पेश किया गया तथा उन्हें 18 मार्च 2019 को चार्ज शीट किया गया। मामले की पैरवी के दौरान प्रॉसीक्यूशन द्वारा 18 प्रमाणिक दस्तावेज एवं 8 गवाह पेश किए गए।

दोषी युवक को Rs.75 हजार व महिलाआंे को भरना होगा 15 हजार जुर्माना

नशा तस्कर दो महिलाओं को सुनाई सजा : नशा तस्करी के दूसरे मामले में विशेष अदालत ने एनडीपीएस अधिनियम 1985 में स्थानीय प्यौदा रोड निवासी बिमला प|ी बलराज को 20 ग्राम स्मैक का दोषी ठहराते हुए 14 माह की कठोर कारावास की सजा सुनाई तथा जींद जिला के गांव रिटौली निवासी ईशमी प|ी रोशन लाल को इस अधिनियम के तहत 15 ग्राम स्मैक रखने का दोषी ठहराते हुए एक वर्ष के कठोर कारावास तथा 15 हजार रुपए जुर्माना की सजा सुनाई। जुर्माना अदा न करने की स्थिति में 45 दिन की अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतनी होगी। पुलिस रिपोर्ट के अनुसार अभियुक्तों को 26 अक्तूबर 2018 को पकड़ा गया था तथा व्यक्तिगत जांच के दौरान उनसे उपरोक्त स्मैक पकड़ी गई। स्थानीय सिविल लाइन पुलिस थाना द्वारा एनडीपीएस की धारा 21 के तहत केस दर्ज किया गया। न्यायालय में 8 मई 2019 को चालान पेश किया गया तथा 10 मई 2019 को उन्हें चार्जशीट कर दिया गया। इस मामले का निपटारा केवल 62 दिन में कर दिया गया। मामले की सुनवाई के दौरान प्रॉसीक्यूशन द्वारा 26 प्रमाणित दस्तावेज एवं 10 गवाह प्रस्तुत किए गए।

बस का इंतजार कर रही लड़की का मोबाइल छीनने के 2 दोषियों को 5-5 साल की जेल

कैथल। जिला एवं सत्र न्यायाधीश एमएम धौंचक की अदालत ने मोबाइल छीनने के दो दोषियों पट्टी कौथ निवासी अजय, पुत्र फकीर चंद तथा राजीव पुत्र रमेश चंद को 5-5 वर्ष के कठोर कारावास एवं 25-25 हजार रुपए का जुर्माने की सजा सुनाई है। जुर्माना अदा न करने की स्थिति में दोषियों को 2 माह के अतिरिक्त सामान्य कारावास की सजा भुगतनी होगी। पुलिस मामले के अनुसार सिरटा निवासी शिकायतकर्ता बकसर देवी पुत्री सत्यनारायण शर्मा ने 5 अक्तूबर 2018 को स्थानीय सिटी पुलिस थाना में शिकायत दी थी कि वह 30 सितंबर 2018 सायं 7 बजे विश्वकर्मा चौक पर सिरटा गांव की बस का इंतजार कर रही थी, तभी बाइक सवार 2 लड़कों ने उसका मोबाइल छीना और भाग गए। पुलिस की प्रारंभिक जांच में अनट्रेस रिपोर्ट तैयार की गई, परंतु 24 मई 2019 को आगे जांच में दोनों अभियुक्तों को बाइक समेत ढांड बाइपास से पकड़ लिया तथा राजीव की जेब से का मोबाइल बरामद किया गया। जांच के दौरान अभियुक्तों ने बताया कि उन्होंने एक लड़की से मोबाइल छीना था। दोनों अभियुक्तों को 26 अप्रैल 2019 को न्यायालय में पेश किया गया तथा पहचान के लिए शिकायतकर्ता से शिनाख्त कराई। मामले की सुनवाई के दौरान प्रॉसीक्यूशन द्वारा 13 प्रमाणिक दस्तावेज तथा 6 गवाह पेश किए गए, जबकि बचाव पक्ष द्वारा एक प्रमाणिक दस्तावेज पेश किया गया। इस मामले का निपटारा मात्र 35 दिन में कर दिया गया। इस मामले की पैरवी पब्लिक प्रोसीक्यूटर जनक राज ने की।

X
Kaithal News - haryana news two women convicted of smuggling drug addiction
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना