• Home
  • Haryana News
  • Kalanwali
  • बिल्डिंग हैंडओवर करने का लोक निर्माण विभाग कर रहा दावा, रोडवेज का इनकार
--Advertisement--

बिल्डिंग हैंडओवर करने का लोक निर्माण विभाग कर रहा दावा, रोडवेज का इनकार

प्रदेश सरकार की ओर से शहर में बनाए गए अति आधुनिक तरीके से लैस नवनिर्मित बस अड्डे की बिल्डिंग करीब दो माह से बनकर...

Danik Bhaskar | Apr 06, 2018, 02:50 AM IST
प्रदेश सरकार की ओर से शहर में बनाए गए अति आधुनिक तरीके से लैस नवनिर्मित बस अड्डे की बिल्डिंग करीब दो माह से बनकर तैयार है। लेकिन इसके बावजूद यात्रियों को बस स्टैंड की सुविधा नहीं मिलीं हैं। हालांकि लोकनिर्माण विभाग बिल्डिंग तैयार कर रोडवेज प्रशासन को हैंडओवर किए जाने का दावा करता है, जबकि रोडवेज अधिकारी यह स्वीकार करने को तैयार नहीं हैं। इसी बीच बस यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। यात्रियों ने सरकार व संबंधित विभाग के प्रति नाराजगी भी व्यक्त की है।

बता दें कि शहर में सीएम मनोहर लाल खट्टर की ओर से 25 अगस्त 2016 को विकास रैली के दौरान शिलान्यास करने के बाद 17 दिसंबर 2016 को लोकनिर्माण विभाग के एक्सईएन अजीत कुमार की अध्यक्षता में बस स्टैंड का नींव रखी थी। इसके बाद विभाग की ओर से अस्थाई तौर पर पार्किंग की तरफ कच्ची जगह पर बसों के ठहराव की सुविधा देकर करीब 2 करोड़ 4 लाख रुपये की लागत से नये बस स्टैंड में अति आधुनिक तरीके की सुविधाएं देकर बिल्डिंग का निर्माण किया गया है। जिसका लगभग सारा काम पूर्ण हो चुका है। लेकिन बावजूद यात्रियों को नवनिर्मित बस स्टैंड की सुविधा मिलनी शुरू नहीं हुई है। जिसके चलते यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैै।

पार्किंग गेट की तरफ अस्थाई तौर पर चल रहे बस स्टैंड पर असुविधाओं की भरमार है। वहां यात्रियों को बैठने के लिए उचित जगह न होने, पंखे, लाईट, पीने के पानी का कोई प्रबंध न होने व यात्री कच्ची जगह में बैठने को मजबूर हैं।

नवनिर्मित बस स्टैंड में ये है सुविधाएं

नये बस स्टैंड को अति आधुनिक तरीके की सुविधाओं से लैस और थ्री वेज बनाया गया हैं। नवनिर्मित भवन में स्टॉफ के लिए कमरों, दुकानदारों के लिए दुकानों के अलावा बसों के लिए 5 बस काउंटर बनाए गए हैं। बस स्टैंड में साइकिल, मोटरसाइकिल, कार, जीप, बस आदि के लिए पार्किंग की बेहतर व्यवस्था की गई है। बस स्टैंड के दो गेट आरा रोड़ की तरफ जहां बसों का आवागमन होगा और तीसरा गेट सिर्फ वाहनों की पार्किंग के लिए रखा गया है। इसके अलावा बस स्टैंड में पेयजल, सीवरेज व्यवस्था, बिजली, शौचालयों का विशेष ध्यान रखा है। नये बस स्टैंड के शुरू होने से शहरवासियों के अलावा गदराना, देसूमलकाना, हस्सू, नारंग, खोखर, लक्कड़वाली, दादू, तारूआना, तख्तमल, पक्का शहीदां, कुरंगावाली, सिंघपुरा, धर्मपुरा, केवल, तिलोकेवाला, पिपली, चकेरियां, जलालआना, जगमालवाली सहित करीब 66 गांवों के यात्रियों को सुविधा मिलेगी।

कालांवाली। दो माह से बनकर तैयार बस स्टैंड का भवन।

लोकनिर्माण विभाग ने पूरी तैयार नहीं की बिल्डिंग


बिल्डिंग हैंडओवर कर दी