• Home
  • Haryana News
  • Kalanwali
  • फग्गू में लगने वाले पशु मेले को बंद करने के आदेश जारी
--Advertisement--

फग्गू में लगने वाले पशु मेले को बंद करने के आदेश जारी

रोड़ी | गांव फग्गू में लगने वाले पशु मेले को तुरंत प्रभाव से बंद करने के आदेश जारी हुए हैं। सीएम विंडो पर भेजी...

Danik Bhaskar | Jan 22, 2018, 04:45 PM IST
रोड़ी | गांव फग्गू में लगने वाले पशु मेले को तुरंत प्रभाव से बंद करने के आदेश जारी हुए हैं। सीएम विंडो पर भेजी शिकायत में बताया गया है कि मेले में पशु बेचने व खरीदने पर अवैध रूप से वसूली की जाती है जबकि नियमानुसार ये फीस मात्र 50 रुपये है। पशु मेले के नाम पर विभागीय नियमों को दरकिनार कर मोटी कमाई की जा रही है।

बताया गया है कि उक्त पशु मेला पंचायती भूमि पर न लगाकर निजी जगह पर लगाया गया है। मेले में आने वाले पशुओं की बिक्री पर प्रति पशु के हिसाब से अवैध रूप से कमेटी द्वारा अवैध रूप से पशु बेचने वाले व्यक्ति से 200 रुपये व खरीदने वाले 300 रुपये तक वसूले जाते हैं। जबकि सरकारी नियमों के मुताबिक यह फीस महज 50 रुपये लिए जाने का प्रावधान है। गौरतलब हो कि फग्गू में हर रविवार को लगने वाले इस मेले में हरियाणा के दूसरे छोर से लेकर पंजाब, राजस्थान व यूपी तक के पशु व व्यापारी वर्ग यहां आता है। इस मेले में हर रविवार 500 से लेकर 700 तक पशु बिक्री के लिए आते हैं। बताया जा रहा है कि इस मेले का संचालन एक कमेटी करती है। हर पशु की बिक्री पर कमेटी बेचदार व खरीदार से 500 लेती है जिसमें से 50 रुपये बीडीपीओ कार्यालय में सरकारी फीस के तौर पर जमा करवा दिए जाते हैं जबकि साढ़े 400 रुपये कमेटी अपने पास रखती है। यानि हर सप्ताह कमेटी को सरकारी खजाने से 9 गुना ज्यादा आमदन होती है। सीएम विंडो की शिकायत के आधार पर उपायुक्त ने पत्र क्र मांक 1846 को खंड कार्यालय बड़ागुढ़ा, थाना रोड़ी, ग्राम पंचायत, एसडीएम कालांवाली व जिला सूचना अधिकारी को भेजते हुए मेले को बंद करवाने के आदेश जारी किए। खंड कार्यालय की ओर से एक कर्मचारी शनिवार सांय आदेशों की प्रति लेकर थाने पहुंचा। जिस पर थाना प्रभारी ने कहा कि उक्त मेला बंद करवाना खंड कार्यालय का कार्य है। इस कार्य में अगर पुलिस बल की जरूरत पड़ती है तो मुहैया करवा दिया जाएगा।

अधिकारियों का कहना