Hindi News »Haryana »Kalanwali» सरसों खरीद में उचंति कारोबार से सरकार को लगाया जा रहा लाखों रुपये का चूना

सरसों खरीद में उचंति कारोबार से सरकार को लगाया जा रहा लाखों रुपये का चूना

मंडी में इन दिनों सरसों की दस्ती बिक्री धड़ल्ले से हो रही है, जिसकी वजह से सरकार को मार्केट फीस और सेल टैक्स के रूप...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 11, 2018, 02:20 AM IST

मंडी में इन दिनों सरसों की दस्ती बिक्री धड़ल्ले से हो रही है, जिसकी वजह से सरकार को मार्केट फीस और सेल टैक्स के रूप में लाखों रुपये की चपत लग रही है।

मार्केट कमेटी के रिकार्ड के अनुसार 7 अप्रैल तक 12071 क्विंटल सरसों की आवक आ चुकी है। जिसमें से सिर्फ 1300 क्विंटल हैफेड ने, जबकि शेष सरसों की खरीद व्यापारियों की ओर से की गई है। जबकि इस बार सरसों की बंपर फसल होने के चलते मंडी में सरसों की आवक कहीं ज्यादा आ चुकी है। जिसका सीधा सा अर्थ है, कि अधिकारियों की व्यापारियों के साथ मिलीभगत से सरकार को लाखों रुपयों का चूना लगाया जा रहा है। हालांकि भाजपा मंडलाध्यक्ष मनीष जिंदल ने भी अनाज मंडी में फसल खरीद में हो रही गड़बड़ी को रोकने के लिए 4 अप्रैल को फसलों की ढेरियों पर पर्ची लगाकर खरीद करने के निर्देश दिए थे। लेकिन आनाकानी कर उक्त निर्देश को अमलीजामा नहीं पहना रहे। जिसके चलते अनाज मंडी में फसलों का उचंति कारोबार इसी तरह जारी है।

मार्केट कमेटी व सेल टैक्स के अधिकारियों की व्यापारियों के साथ मिलीभगत से मंडी में आने वाला नरमा और सरसों मार्केट कमेटी के आवक रजिस्टर में इंद्राज होने की बजाए उचंति में बिक रहा है। प्राइवेट परचेज होने की वजह से व्यापारियों की ओर से माल खरीदने की शर्त रखी जाती है। आंकड़े बताते हैं कि मंडी में आने वाली सरसों 50 फीसदी से ज्यादा उचंति में बिक रही है। उचंति बिक्री का सीधा असर मार्केट फीस और सेल टैक्स पर पड़ रहा है। मंडी में मार्केट कमेटी की मिलीभगत से मार्केट फीस और सेल टैक्स की सीधी चोरी संभव हो पाती है। हालांकि सरकार की ओर से मार्केट फीस और सेल टैक्स की चोरी को रोकने के लिए पिछले वर्ष बोली की वीडियोग्राफी शुरू करवाई थी, लेकिन इस बार वीडियोग्राफी नहीं हो रही। नरमा पर दो प्रतिशत मार्केट फीस व 80 पैसे एचआरडीएफ है, जबकि सरसों पर एक प्रतिशत मार्केट फीस देय है। इसके अलावा नरमे व सरसों पर 5 प्रतिशत जीएसटी देय है। नरमा और सरसों की उचंति बिक्री से मार्केट फीस से दोगुणा चपत सेल टैक्स विभाग को लग रही है।

कालांवाली। अनाजमंडी में लगी सरसों की ढेरियां।

सीएम को करवाएंगे अवगत : जिंदल

भाजपा सरकार भ्रष्टाचार के मामलें में जीरो टोलरेंस की नीति पर कार्य कर रही है। उन्हें अनाज मंडी में फसलों की खरीद-बेच गड़बड़ी की जानकारी मिली थी। जिसको लेकर फसलों की खरीद में गड़बड़ी को रोकने के लिए उन्होंने मार्केट कमेटी के प्रधान व उपप्रधान और सचिव को पर्चियां लगाकर फसलों की खरीद करने को कहा था। यदि ऐसा नहीं हो रहा तो वे उक्त मामलें को सीएम को अवगत करवाकर कार्रवाई की मांग करेंगे।'' -मनीष जिंदल, भाजपा मंडलाध्यक्ष, कालांवाली।

मंडी में नहीं बिकती उचंति फसल

मंडी में कोई उचंति फसल नहीं बिकती। कमेटी की ओर से सभी ढेरियों पर कमेटी की पर्चियां लगाई जाती है और सरकार के नियमानुसार सरसों आदि की खरीद की जा रही है।'' मेजर सिंह, सचिव , मार्केट कमेटी।

गड़बड़ी बर्दाश्त नहीं

मंडी में फसलों में किसी प्रकार की गड़बड़ी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। वे उक्त मामले में मार्केट कमेटी अधिकारियों को फसलों की बिक्री सही तरीके से करने के निर्देश जारी कर देते हैं।'' - बिजेंद्र सिंह हुड्डा, एसडीएम कालांवाली।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kalanwali

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×