• Hindi News
  • Haryana News
  • Kalanwali
  • धीमे लदान कार्य के चलते अनाज मंडी में नहीं गेहूं उतारने काे जगह
--Advertisement--

धीमे लदान कार्य के चलते अनाज मंडी में नहीं गेहूं उतारने काे जगह

अनाज मंडी में गेहूं की आवक में कमी आई है, लेकिन लदान कार्य में तेजी न आने के कारण अनाज मंडी व अतिरिक्त मंडी अब भी...

Dainik Bhaskar

Apr 27, 2018, 02:30 AM IST
अनाज मंडी में गेहूं की आवक में कमी आई है, लेकिन लदान कार्य में तेजी न आने के कारण अनाज मंडी व अतिरिक्त मंडी अब भी गेहूं की बोरियों से भरी पड़ी है और गेहूं की बोरियां खुले आसमान तले पड़ी हैं। अनाज मंडी में जगह की कमी के चलते आढ़तियों को बोरियों के चट्ठे लगाने पड़ रहे हैं, जिससे उन्हें आर्थिक नुकसान सहना पड़ता है। वहीं किसानों को भी गेहूं सड़क के बीचों बीच उतारनी पड़ रही है।

मार्केट कमेटी के सचिव मेजर सिंह सिंधू ने बताया कि इस बार 25 अप्रैल तक मंडी व मंडी के अधीन खरीद केंद्रों पर 14 लाख 11 हजार 940 क्विंटल गेहूं की आवक हो चुकी है। जिसमें से खरीद एजेंसियों की ओर से 6 लाख 72 हजार 660 क्विंटल गेहूं का लदान किया गया है। खाद्य आपूर्ति विभाग की एक लाख 2 हजार 45 क्विंटल, हैफेड की 5 लाख 42 हजार 368 क्विंटल, एफसीआई की 12 हजार 860 क्विंटल, हरियाणा वेयर हाउस की 82 हजार 07 क्विंटल गेहूं का लदान पेंडिंग है।

आढ़ती बोले- एजेंसी जल्द जारी करवाए पेमेंट

आढ़तियों का कहना है कि एजेंसी की ओर से जितना गेहूं का लदान होता है, उतनी गेहूं की राशि का चैक काटा जाता है, जबकि लदान कार्य धीमा होने के कारण उनकी पेमेंट लेट हो रही है। जिस कारण उनको किसानों को अदायगी करने में भी दिक्कत होती है। उन्होंने एजेंसी अधिकारियों से मांग की कि उनकी पेमेंट जल्द जारी की जाए। किसानों और अाढ़तियों ने उठान कार्य में तेजी लाने की मांग उठाई है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..