Hindi News »Haryana »Kanina» मजदूर को बांधकर पीटने की घटना पर कोर्ट ने लिया संज्ञान, पुलिस को जांच के आदेश

मजदूर को बांधकर पीटने की घटना पर कोर्ट ने लिया संज्ञान, पुलिस को जांच के आदेश

कनीना में नवनिर्माणाधीन 50 बेड के अस्पताल में एक युवक को बंधक बनाकर पीटने के मामले में कोर्ट ने संज्ञान लिया है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 02:25 AM IST

मजदूर को बांधकर पीटने की घटना पर कोर्ट ने लिया संज्ञान, पुलिस को जांच के आदेश
कनीना में नवनिर्माणाधीन 50 बेड के अस्पताल में एक युवक को बंधक बनाकर पीटने के मामले में कोर्ट ने संज्ञान लिया है। कनीना न्यायालय के न्यायाधीश एसडीजेएम रामावतार पारीक ने कनीना पुलिस को इस मामले में कानून के तहत कार्रवाई करने के निर्देश जारी किए। न्यायधीश के आदेश के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। बता दें कि 27 मार्च को कनीना में बनाए जा रहे 50 बेड अस्पताल के निर्माणाधीन भवन के नजदीक एक राहगीरी मजदूर को शराब पीना उस समय महंगा पड़ गया था, जब निर्माणाधीन भवन में कार्य कर रहे लोगों ने उसे पेड़ से बांधकर उसकी पिटाई का दी थी। जिससे मजदूर का पेंट में ही शौच निकल गया था। इस दौरान बार-बार हाथ जोड़कर वह ठेकेदार को भी माफी करने की गुहार लगाता रहा था, लेकिन सुबह 5 बजे बांधे गए मजदूर को सुबह 10 बजे तक माफी नहीं दी गई और उसकी पिटाई जारी रखी।

रोता रहा मजदूर, माफी भी मांगी लेकिन लोगों को नहीं आई दया

पीड़ित राजू ने बताया कि वह अहमदाबाद गुजरात का रहने वाला है। बीते कई वर्षों से परिवार सहित कनीना में रह रहा है। वह और उनका परिवार गांवों में जाकर मजदूरी का कार्य करते हैं। मंगलवार सुबह करीब 5 बजे वह अस्पताल की दिवार के पास छिपकर शराब पीने लग रहा था। जब की उसे यह नही पता था कि यह सरकारी जगह है। खाली जगह देखकर वह दीवार के पास खड़ा होकर शराब पीने लगा ही था कि निर्माणाधीन भवन में कार्य कर रहे कुछ लोग आए और उसकी पिटाई शुरू कर दी और पेड़ से उसके हाथ पैर बांध दिए गए। वह बार-बार हाथ जोड़कर उनसे चिल्ला-चिल्ला कर माफी मांगता रहा और कहता रहा कि उसे कुछ देर के लिए खोल दो ताकि वह शौच कर आए, लेकिन एक भी व्यक्ति ने उसे नहीं छुड़वाया और पिटाई करते रहे। डर की वजह से पेंट में ही उसका शौच निकल गया फिर भी उसे छोड़ा नहीं गया। रोड पर जा रहे लोगों ने उसके रोने की आवाज सुनकर रस्सी खोलकर उसे मुक्त कराया। लेकिन फिर भी उसे वही बैठाए रखा और पिटाई जारी रखी। जिससे उसके हाथ में भी चोट लगी है। हालांकि ठेकेदार ललित कुमार ने मजदूर के आरोप को झूठलाया था। उसका कहना था कि वह शराब पीने नहीं प्लास्टिक के कट्टे में सरिये चोरी कर कर रहा था। तभी उसे मजदूरों ने देख लिया और पेड़ से बांध दिया।

फॉलोअप

28 मार्च को प्रकाशित

कनीना कोर्ट के न्यायाधीश एसडीजेएम रामावतार पारीक ने बताया कि दैनिक भास्कर में प्रकाशित समाचार पर संज्ञान लेकर थाना प्रभारी को कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

चौकी प्रभारी बलवंत सिंह ने बताया कि घटना को अंजाम देने वाले लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Kanina

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×