• Home
  • Haryana News
  • Karnal
  • मुख्य बाजार रोड के सेंट्रल वर्ज का प्रोजेक्ट अटका हाउस से नहीं मिली स्वीकृति, शहर में जाम की समस्या
--Advertisement--

मुख्य बाजार रोड के सेंट्रल वर्ज का प्रोजेक्ट अटका हाउस से नहीं मिली स्वीकृति, शहर में जाम की समस्या

शहर के कर्ण गेट बाजार रोड के सेंट्रल वर्ज के निर्माण का प्रोजेक्ट अधर में लटक गया है, क्योंकि नगर निगम हाउस ने इस...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:30 AM IST
शहर के कर्ण गेट बाजार रोड के सेंट्रल वर्ज के निर्माण का प्रोजेक्ट अधर में लटक गया है, क्योंकि नगर निगम हाउस ने इस प्रोजेक्ट के प्रस्ताव को फिलहाल स्वीकृति नहीं दी है। इस हाल में वाल्मीकि चौक से कलंदरी गेट तक ओल्ड जीटी रोड को नो व्हीकल जोन बनाने के कार्य में रोड़ा अटक गया है। इस कारण फिलहाल बाजार में जाम की समस्या से राहत मिलने वाली नहीं है। नगर निगम की ओर से तैयार 1.75 करोड़ रुपए के इस प्रोजेक्ट को हाउस में स्वीकृति मिलना जरूरी है। हाउस से स्वीकृति के बाद इसे सरकार से बजट अप्रूवल के लिए भेजा जाएगा। लेकिन अभी यह प्रोजेक्ट पहले पायदान पर ही ठठक गया है। शहर के लोगों को कर्ण गेट बाजार में जाम की समस्या से निजात पाने के लिए अभी और इंतजार करना पड़ेगा।

कर्ण गेट बाजार रोड शहर का सबसे व्यस्त मार्ग बना हुआ है। लाखों लोग हर रोज इस ओल्ड जीटी रोड वे आते-जाते हैं। बाजार में सामान खरीदने और कलंदरी गेट की तरफ जाने वाले लोग इस मार्ग से आते-जाते हैं। बाजार में खरीदारी करने के लिए आने वाले लोगों के अलावा अन्य वाहन चालक भी इस रोड से गुजरते हैं तो रोड पर जाम होता है। इस रोड पर जाम होने से जहां आमजन पैदल चलने में भी परेशान होता है, वहीं दुकानदारों को भी दिक्कत आती है।

प्रोजेक्ट पर काम होने से जाम की समस्या से मिलेगी निजात

गलत पार्किंग से पैदा होती है समस्या

बहुत से लोग खरीदारी करते समय अपने वाहनों को साथ में ले जाते हैं, जो कि अक्सर खरीदारी करते वक्त सड़क पर गलत वाहन पार्किंग कर देते हैं। लेकिन जब इस रोड पर वाहन की एंट्री बैन हो जाएगी तो फिर गलत वाहन पार्किंग से होने वाली समस्या से निजात मिल जाएगी।

सरकार से फिर मांगी जाएगी अप्रूवल

वाल्मीकि चौक से कलंदरी गेट तक सेंट्रल वर्ज बनाने के लिए हाउस में प्रस्ताव पास होने के बाद ही नगर निगम इसे सरकार से बजट अप्रूवल के लिए भेजेगा। सरकार ने बजट की अप्रूवल लिया जाना जरूरी है। जब तक सरकार ने बजट की अप्रूवल नहीं मिलेगी, तब तक नगर निगम इस प्रोजेक्ट पर कार्य नहीं करा सकता है।

सेंट्रल वर्ज से दो हिस्से में बंटेगी सड़क

सेंट्रल वर्ज से सड़क को दो हिस्सों में बांटा जाएगा, ताकि दोनों साइडों में आवागमन करने वालों लोगों को दिक्कत का सामना न करना पड़ेगा। रोड पर वाहनों पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा, जिससे गलत पार्किंग की वजह से जाम की दिक्कत नहीं आएगी।

यह दी जाएंगी सुविधाएं

इस प्रोजेक्ट के अंतर्गत सेंट्रल वर्ज का निर्माण करते हुए पुराने एमसी भवन में मल्टी लेयर पार्किंग की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। सेंट्रल वर्ज में सुंदर व सदा बहार हरियाली से भरे पौधे रोपित किए जाएंगे। इसी के साथ वाटर बॉडी का निर्माण किया जाएगा। मार्केट में आने वाले लोगों के बैठने के लिए झोपड़ीनुमा शैड और बेंच इत्यादि की सुविधा प्रदान की जाएगी।

चारों तरफ लगेंगे बैरिकेड्स

योजना के अनुसार इस रोड के चारों तरफ स्वचालित छोटे आकार के बैरिकेड्स भी लगाए जाएंगे। इस प्रोजेक्ट के लिए नगर निगम की ओर से ड्राइंग तैयार की गई है, इस कार्य के लिए 1.75 करोड़ रुपए का रफ कोस्ट अनुमान तैयार किया गया है।

सरकार को भेजी जाएगी अप्रूवल