Hindi News »Haryana »Karnal» तीन एकड़ में बुल्गारिया गुलाब की खेती कर किसान कमा रहा है 10 लाख सालाना

तीन एकड़ में बुल्गारिया गुलाब की खेती कर किसान कमा रहा है 10 लाख सालाना

जिला कैथल के गांव बरोला का प्रगतिशील किसान कुशलपाल सिरोही तीन एकड़ में बुल्गारिया गुलाब की खेती कर दस लाख रुपए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 02, 2018, 03:30 AM IST

तीन एकड़ में बुल्गारिया गुलाब की खेती कर किसान कमा रहा है 10 लाख सालाना
जिला कैथल के गांव बरोला का प्रगतिशील किसान कुशलपाल सिरोही तीन एकड़ में बुल्गारिया गुलाब की खेती कर दस लाख रुपए सालाना कमा रहा है। पहले छह एकड़ गुलाब की खेती करते थे, लेकिन अब तीन एकड़ में कर रहे हैं। कुशलपाल सिरोही पिछले करीब 15 सालों से बुल्गारिया गुलाब की खेती कर रहा है। वैसे तो गुलाब की हजारों किस्म होती हैं, लेकिन इत्र बुल्गारिया गुलाब से ही निकलता है। वैसे इस किस्म का नाम दमस्त है। लेकिन बुल्गारिया देश में ज्यादा होने के कारण इसका नाम बुल्गारिया ही पड़ गया। नवंबर व दिसंबर में इसकी कलम लगाई जाती है। अप्रैल माह में यह तैयार हो जाता है। एक बार लगाने के बाद 15 साल तक दोबारा लगाने की जरुरत नहीं पड़ती। अप्रैल माह में जितनी ज्यादा गर्मी पड़ेगी, उतनी ही ज्यादा पैदावार होगी। गर्मी ज्यादा पड़ने से बुल्गारिया गुलाब ज्यादा खिलता है।

कैसे बनाते हैं इत्र...

कुशलपाल सिरोही के अनुसार तांबे के बड़े बर्तन में पानी और गुलाब के फूल डाल दिए जाते हैं।

इसके बाद ऊपर से मिट्टी का लेप कर बर्तनों के नीचे आग जलाई जाती है।

भाप के रूप में गुलाब जल व गुलाब इत्र एक बर्तन में एकत्रित हो जाते हैं, जिस बर्तन में भाप बनकर इत्र जाता है, उसे पानी में डाल दिया जाता है।

गुलाब का इत्र केवल तांबे के बर्तन में निकाला जाता है। कई जगह कंडेंसिंग विधि से भी अर्क निकाला जाता है।

लेकिन आसवन विधि ज्यादा कारगर है। एक क्विंटल फूलों में मात्र 20 ग्राम इत्र निकलता है।

इंटरनेशनल मार्केट में एक किलोग्राम इत्र का मूल्य करीब सात से आठ लाख रुपए है।

इंटरनेट के माध्यम से बेचते हैं विदेशों में

गुलाब के इत्र की अमेरिका सहित अरब के देशों में डिमांड है। किसान ने बताया कि भारत में इसकी कोई मार्केट नहीं है। इसलिए बाहर इंटरनेट के माध्यम से बेचना पड़ता है। साऊदी अरब में सबसे ज्यादा डिमांड है। प्रति एकड़ 400 से 500 ग्राम निकलता है। अंतरराष्ट्रीय मार्केट में इत्र 7 से 8 लाख रुपए प्रति एक किलोग्राम के हिसाब से बिकता है।

प्रति एकड़ खेती पर चार हजार रुपए आता है खर्च

नवंबर व दिसंबर में गुलाब के पौधों की कटाई व छंटाई होती है। इसी दौरान नई कलमें भी लगाई जा सकती हैं। कुशपाल के मुताबिक, एक एकड़ में बुल्गारिया गुलाब लगाने में चार हजार रुपए के करीब खर्च आता है। एक एकड़ में करीब दो हजार कलम लगाई जा सकती हैं। यह तीन माह में तैयार हो जाता है। एक बार लगाया गुलाब 15 साल तक फूल देने के काम आता है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Karnal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×