• Home
  • Haryana News
  • Karnal
  • राहगीरी की टीम ने शहरवासियों के साथ मनाया अप्रैल फूल-डे
--Advertisement--

राहगीरी की टीम ने शहरवासियों के साथ मनाया अप्रैल फूल-डे

करनाल. सेक्टर-12 में आयोजित राहगीरी कार्यक्रम में प्रस्तुति देते राहगीरी की टीम के सदस्य । सेक्टर-12 में आयोजित...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 03:30 AM IST
करनाल. सेक्टर-12 में आयोजित राहगीरी कार्यक्रम में प्रस्तुति देते राहगीरी की टीम के सदस्य । सेक्टर-12 में आयोजित राहगीरी कार्यक्रम में मटका सिर पर रखकर जाते बच्चे। फोटो | भास्कर

भास्कर न्यूज | करनाल

रविवार को शहरवासियों की थकावट दूर कर आनंदयुक्त करने वाली राहगीरी में इस बार अप्रैल फूल-डे मनाया गया। राहगीरी की टीम की ओर से शहरवासियों को सुबह नाश्ते का न्यौता दिया गया, जिसके बाद शहरवासी नाश्ते का इंतजार करते रहे। बाद में राहगीरी की टीम ने शहरवाासियों को बताया कि आज आपको कोई नाश्ता नहीं मिलेगा, क्योंकि आज अप्रैल फूल-डे है। यह सुनकर सभी शहरवासी हैरान रह गए और फिर हंसते हुए अपने घरों की तरफ लौट चले।

इससे पहले राहगीरी में रोड सेफ्टी से आए आरएसओ विपिन कुमार ने शहरवासियों को बताया कि अब शहर के हर चौक पर कैमरे लग चुके हैं, इसलिए अब सभी शहरवासी कैमरे की नजर में हैं। यातायात करते समय नियम अनुसार सीट बेल्ट, मोटर साइकिल पर हेल्मेट लगाकर चलें। शहर के चौक पर नियम न तोड़ें अन्यथा अब कैमरे की नजर से वाहन चालक के घर सीधा चालान अाना शुरू होगा। नीलोखेड़ी से राहगीरी में विभिन्न कलाकारों का रोल निभा चुके कृष्ण कुमार ने इस बार की राहगीरी में हरियाणवी चंद्रावल का रोल निभाकर हरियाणवी संस्कृति बचाने का संदेश दिया। उन्होंने कहा कि आज का युवा हरियाणवी संस्कृति को भूल चुका है। युवाओं को अपने हरियाणवी गीत, फिल्मों के जरिए अपनी संस्कृति से जोड़कर रखा जा सकता है। हरियाणा के पहनावे, यहां की बोली युवाओं को हमेशा बोलनी आनी चाहिए।

हास्य कविता व गीतों से

राहगीरों को रिझाया

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ का संदेश देते हुए शहरवासी तेजपाल ने कविता सुनाई। जिसमें हरियाणा में बेटियों के बढ़ते कदम को बताया गया कि बेटियां कितने ऊंचे स्तर पर अपने देश का नाम रोशन कर रही हैं। इसके साथ ही कोमल प्रीत कौर ने पंजाबी भंगड़ा पाते हुए शहरवासियों का समां बांधा। कविता रानी ने हास्य कविता सुनाकर शहरवासियों को लोट-पोट कर दिया।

राहगीरी में शुरू हुए तीन नए खेल

राहगीरी में शूटिंग, पेंटिंग, बैडमिंटन, दौड़ आदि ही प्रतियोगिता चलती आ रही हैं, लेकिन राहगीरी में इस बार तीन खेलों की और शुरुआत की गई है। जिसमें बॉस्केटबाल, बॉक्सिंग, डॉट गेम को भी शामिल किया गया। राहगीरी की टीम के सदस्य बीर सिंह ने बताया कि खेलों से युवाओं का विकास होता है। राहगीरी का केवल एक ही उद्देश्य है रविवार के दिन शहरवासी आनंदपूर्वक अपनी प्रतिभा दिखा सके।