किसान समूहों को 80 प्रतिशत अनुदान पर मिलेंगे यंत्र : डाॅ. डबास

Karnal News - फसल अवशेष प्रबंधन योजना के तहत जिले में अब तक 167 कस्टम हायरिंग सेंटर खोले जा चुके हैं। इन सेंटरों के माध्यम से...

Bhaskar News Network

Jun 14, 2019, 08:05 AM IST
Karnal News - haryana news farmers will get 80 subsidy on machines dr dobas
फसल अवशेष प्रबंधन योजना के तहत जिले में अब तक 167 कस्टम हायरिंग सेंटर खोले जा चुके हैं। इन सेंटरों के माध्यम से किसानों को 80 प्रतिशत अनुदान पर कृषि उपकरण व यंत्र उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। इन केंद्रों पर किसानों को फसल अवशेष प्रबंधन के लिए उपकरण व यंत्र सहजता से उपलब्ध हो सकेंगे। खासकर ऐेसे उपकरणों को इसमें जोड़ा गया है जिसके माध्यम से पराली को खेतों में ही टुकड़े कर एक डि-कंपोस्ट के रूप में प्रयोग किया जा सके।

पिछले दिनों एनजीटी की ओर से फसल अवशेष जलाने पर राज्यों को पहले से ही कड़े निर्देश दिए जा चुके हैं। कृषि विभाग के उपनिदेशक डाॅ. आदित्य डबास ने बताया कि कस्टम हायरिंग सेंटर के लिए किसानों के समूह, सहकारी समितियां, महिला किसान समूह, पंजीकृत किसान समूह, स्वयं सहायता समूह व पैक्स आदि आवेदन कर सकते हैं। कस्टम हायरिंग सेंटर स्थापित करने के लिए 10 जून से 10 जुलाई तक शाम 5 बजे तक ऑनलाइन आवेदन किए जा सकते हैं।

किसान समूह या सोसायटी के पास अपना ट्रैक्टर या कम्बाइन होना अनिवार्य है। लक्ष्य से अधिक आवेदन प्राप्त होने पर लाभार्थी का चयन उपायुक्त की अध्यक्षता में गठित जिला स्तरीय कार्यकारी समिति द्वारा किया जाएगा। इन कस्टम हायरिंग सेंटर के लिए फसल अवशेष प्रबंधन में उपयोगी कृषि यंत्रों जैसे सुपर स्ट्रा मैनेजमेंट सिस्टम, हैप्पी सीडर, पैडी स्ट्रा चोपर, कटर कम स्प्रेडर, रिवर्सिबल प्लो, रोटरी स्लेसर, जीरोटिल ड्रिल एवं रोटावेटर आदि की खरीद पर किसान समूहों को 80 प्रतिशत तक का अनुदान दिया जाएगा।

X
Karnal News - haryana news farmers will get 80 subsidy on machines dr dobas
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना