तेज रफ्तार बस ने ली 11 साल की कोमल की जान, साइकिल पर जा रही थी पेपर देने

Karnal News - शिव काॅलोनी गली नंबर एक से 7वीं कक्षा का पेपर देने गई छात्रा कोमल की शनिवार सुबह हांसी चौक पर प्राइवेट बस की चपेट...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 05:16 AM IST
Karnal News - haryana news fast speed bus took 11 years old39s life going on cycling paper
शिव काॅलोनी गली नंबर एक से 7वीं कक्षा का पेपर देने गई छात्रा कोमल की शनिवार सुबह हांसी चौक पर प्राइवेट बस की चपेट में आने से मौत हो गई। हादसे के बाद चालक भीड़ को देख बस छोड़कर फरार हो गया। सिटी थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर चालक पर केस दर्ज कर लिया है। बस की स्पीड अधिक होने के कारण हादसा हुआ है। रेलवे रोड राजकीय कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल में कोमल 7वीं कक्षा का पेपर देने जा रही थी। कैथल साइड से तेज रफ्तार में आ रही प्राइवेट बस ने हांसी चौक पर साइकिल को टक्कर मारी। बच्ची का सिर और मुंह सड़क पर लगने से उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

जिसके सामने बेटी चली जाए, उसकी जिंदगी में कुछ नहीं बचा: मृतक कोमल के पिता धर्मबीर ने बताया कि वह एक फैक्ट्री में मैकेनिक है। उसे क्या पता था कि बेटी कोमल को अंतिम बार देख रहा हूं। बेटी जैसे ही घर से पेपर देने चली, उसके पीछे-पीछे मैं भी चल पड़ा। भगवान ने ऐसा दुख दिया है, जो किसी भी मां-बाप को न दे। धर्मबीर ने कहा जिस पिता के सामने बेटी चली जाए, उसकी जिंदगी में कुछ नहीं बचा है।

करनाल. हांसी चौक पर हुई दुर्घटना की फुटेज। फोटो|भास्कर

हादसे वाली जगह पर बिखरी थी बजरी

जिस जगह पर हादसा हुआ है उस जगह पर बजरी बिखरी हुई है। इससे दो पहिया वाहन फिसलते हैं। इस चौक पर वाहनों की अधिकता से भी हादसे बढ़ रहे हैं। इस चौक से होकर ही नई अनाजमंडी की तरफ हैवी व्हीकल निकलते हैं। रोडवेज, प्राइवेट बसों का आवागमन का भी यही रास्ता है। इस रास्ते पर चार काॅलेज, चार स्कूल हैं। सुबह, दोपहर और शाम के समय अक्सर जाम की स्थिति बनती है। वाहन अधिक होने पर हादसे भी होते हैं।

दो बहनों से छोटी और भाई से बड़ी थी कोमल

पीड़ित धर्मबीर ने बताया कि उसके चार बच्चे हैं। बड़ी बेटी मोनिका काॅलेज जाती है। नेहा 11वीं कक्षा में है, जबकि छोटा बेटा दीपांशु है। कोमल 7वीं कक्षा में रेलवे रोड स्थित राजकीय कन्या स्कूल में पढ़ती थी। सुबह बेटी कोमल साइकिल लेकर स्कूल जा रही थी कि रास्ते में मौत हो गई। हादसा होने के तुरंत बाद राहगीरों ने उसे कल्पना चावला राजकीय मेडिकल काॅलेज में पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

सुबह मंदिर में माथा टेककर पेपर देने गई थी,10 मिनट बाद सूचना आई एक्सीडेंट हो गया

कोमल की मां कविता का रो-रो कर बुरा हाल है। कविता बोली दिहाड़ी कर लड़कियों को पढ़ा रहे हैं, ताकि लड़की बड़ी होकर कुछ बन सके, लेकिन परमात्मा को यह सब मंजूर नहीं था। बेटी कोमल ने सुबह मंदिर में माथा टेका और इसके बाद पेपर देने चली गई। खुशी-खुशी घर से निकली थी। बोल रही थी सोमवार को पेपर खत्म हो जाएंगे। इसके बाद खेल पर ध्यान दूंगी। दस-15 मिनट बाद ही फोन आया कि कोमल का एक्सीडेंट हो गया है। मेेरी बच्ची की मौत का जो भी जिम्मेदार है, उसे सजा मिलनी चाहिए। रोते हुए कविता बोली मेरी तो दूसरी बेटियां भी साइकिल पर जाती हैं। गरीब हैं इसलिए बस में भेज नहीं सकते।

Karnal News - haryana news fast speed bus took 11 years old39s life going on cycling paper
X
Karnal News - haryana news fast speed bus took 11 years old39s life going on cycling paper
Karnal News - haryana news fast speed bus took 11 years old39s life going on cycling paper
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना