• Hindi News
  • Rajya
  • Haryana
  • Karnal
  • Gharaunda News haryana news no such violence students will be formed committee will go with police and administration to coordinate

दोबारा ऐसी हिंसा न हो, छात्रों की बनाई जाएगी कमेटी, जाे पुलिस और प्रशासन से रखेगी तालमेल

Karnal News - सिर्फ वही हिंसा की खबर, जो अापके लिए जानना जरूरी है। भास्कर न्यूज | करनाल आईटीआई की घटना के बाद दो कमेटियां...

Bhaskar News Network

Apr 17, 2019, 07:20 AM IST
Gharaunda News - haryana news no such violence students will be formed committee will go with police and administration to coordinate
सिर्फ वही हिंसा की खबर, जो अापके लिए जानना जरूरी है।

भास्कर न्यूज | करनाल

आईटीआई की घटना के बाद दो कमेटियां अलग-अलग जांच कर रही हैं। जांच में नए खुलासे हो रहे हैं। जांच में सामने आया कि लाठीचार्ज से पहले ज्वलनशील पदार्थ की बाेतलें भी फेंकी गई हैं। घटनास्थल पर कुछ बोतलें मिली हैं। इसमें बाहर के लोग भी शामिल हो सकते हैं। ऐसे इनपुट भी जांच में मिल रहे हैं। दोबारा इस तरह की नौबत न आए इसलिए आईटीआई के छात्रों की एक तालमेल कमेटी बनाई जाएगी। इस मामले की एसडीएम नरेंद्र पाल और एएसपी अलग-अलग जांच कर रहे हैं।

इसमें नए खुलासे हो रहे हैं। जांच में सामने आया है कि छात्रों के साथ-साथ बाहर के लोग भी इसमें शामिल हो सकते हैं। आईटीआई के बाहर विद्यार्थी और पुलिस दोनों तरफ से पत्थर बरसाए जा रहे थे। इसके 10 से 15 मिनट बाद 20 से 25 युवा मुंह पर कपड़े बांधे आईटीआई में घुसे। इसका वीडियो भी पुलिस को मिला है। पुलिस इसकी जांच कर रही है कि जो युवा मुंह पर कपड़ा बांधकर अंदर आईटीआई में घुसे थे, वे आईटीआई के छात्र थे या कोई बाहर के लोग। आईटीआई कैंपस में करनाल लोकसभा के घरौंडा क्षेत्र की ईवीएम रखी हुई थी, जिस पर गार्द भी थी, जिनको नुकसान पहुंचाए जाने के अंदेशा से उनकी सुरक्षा सुनिश्चित करने को पुलिस अंदर भेजी गई।


करनाल. लाठीचार्ज के विरोध में काले बिल्ले लगाकर रोष प्रदर्शन करता आईटीआई का स्टाफ।

कांग्रेस बाेली-दोषियों के खिलाफ हो कार्रवाई

कांग्रेस कमेटी प्रदेश सचिव पंकज पुनिया ने कहा कि आईटीआई की घटना की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए, जो भी इसमें दोषी पाया जाता है उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होनी चाहिए। जांच कमेटियां निष्पक्ष जांच नहीं करेंगी तो इसका विरोध किया जाएगा। उनकी मांग है कि असली दोषियों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

टीचरों ने काले बिल्ले लगाकर किया काम : आईटीआई में टीचरों ने काले बिल्ले लगाकर काम किया। सुनील, संजय और संदीप ने कहा कि घटना की निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। प्रदेशभर की आईटीआई में कर्मचारी काले बिल्ले लगाकर काम रहे हैं। उनका कहना है कि दोषी पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। पुलिस प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की।

प्रिंसिपल से बातचीत कर छात्रों की कमेटी बनेगी


चालक बस नहीं रोकते तो जीएम को करें शिकायत

दोबारा कभी हिंसा न हो इसके लिए आईटीआई के छात्रों की तालमेल कमेटी बनाई जाएगी। दस से 15 छात्र इसमें शामिल किए जाएंगे। आईटीआई में किसी भी प्रकार की समस्या होगी ताे वे प्रिंसिपल और जिला प्रशासन के अधिकारियों से मिलकर अपनी समस्या का समाधान करवा सकते हैं। रोडवेज चालक बस नहीं रोकते हैं तो इसकी शिकायत जीएम के अलावा पुलिस से कर सकते हैं। शहर में जहां विद्यार्थियों को परेशानी आ रही है, बसें नहीं रुकती हैं, वहां पर ट्रैफिक पुलिस के कर्मचारियों की ड्यूटी लगाई जाएगी, ताकि भविष्य में कोई दुर्घटना न घटे। पुलिस छात्रों की समस्या को प्राथमिकता से सुनेगी और उसका समाधान भी कराया जाएगा। अन्य कॉलेजों में भी ऐसी कमेटी बनाने का प्रिंसिपलों को सुझाव दिया जाएगा।

X
Gharaunda News - haryana news no such violence students will be formed committee will go with police and administration to coordinate
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना