गर्मी की दस्तक : मिट्‌टी के घड़े और सुराही बनाने में जुटे कुम्हार

Karnal News - करनाल. मिट्‌टी के देसी फ्रिज मटके व सुराही का पानी पीने में जो आनंद आता है, वह फ्रिज के ठंडे पानी में नहीं। कई साल...

Bhaskar News Network

Apr 12, 2019, 08:06 AM IST
Karnal News - haryana news summer knock potter engaged in making pottery and jar
करनाल. मिट्‌टी के देसी फ्रिज मटके व सुराही का पानी पीने में जो आनंद आता है, वह फ्रिज के ठंडे पानी में नहीं। कई साल पहले मटकों की इतनी मांग रहती थी कि कुम्हार के घर से मटका लेने के लिए लोग अाते थे। पहले लोगों के पास बहुत कम फ्रिज हुआ करते थे, लोग घड़ों में रखा पानी पीते थे, ये न सिर्फ ठंडा होता था बल्कि इसका स्वाद भी कई गुना बेहतर होता था। लगभग 12 से 15 साल पहले चाक पर गुल्लक, दीपक, मटकी, सुराही, कप, गिलास, कुल्हड़ और मिट्टी की चिलम बनाया करते थे। बदलते दौर के कारण मिट्टी के बर्तन की डिमांड घटी। लेकिन रोजी रोटी के लिए काम तो करना है सदर बजार में बिजली के चाक पर सुराही बनाता कुम्हार। फोटो | भास्कर

X
Karnal News - haryana news summer knock potter engaged in making pottery and jar
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना