पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Karnal News Haryana News The Committee Which Constitutes Fee Raising Will Constitute A Committee Formed In Every Block

फार्म-6 से पकड़े जाएंगे फीस बढ़ाने वाले स्कूल, हर ब्लॉक में गठित कमेटी करेगी जांच

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
जिले के प्राइवेट स्कूलों में मनमाने ढंग से फीस बढ़ोतरी और प्राइवेट पब्लिशर्स की पुस्तकों के जरिए मोटा मुनाफा कमाने वाले स्कूलों पर गाज गिर सकती है। भास्कर द्वारा चलाए गए इस अभियान के तहत अभिभावक एकता संघ के विरोध के चलते गुरुवार को लघु सचिवालय के कांफ्रेंस हाॅल में संघ के पदाधिकारियों के साथ शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बैठक की। बैठक में संघ ने निजी स्कूलों पर फीस व किताबों के जरिए लूट-खसौट का आरोप लगाया। संघ के महासचिव नवीन अग्रवाल, कमलजीत सिंह, अमित सचदेवा, जगदीश सिंह, असीम शर्मा, गौरव अरोड़ा व गौरव गुलाटी ने कहा कि निजी स्कूलों को नो-प्रोफिट नो लाॅस पर स्कूल चलाना होता है, लेकिन उक्त स्कूलों ने शिक्षा को व्यापार बना दिया है। प्रत्येक स्कूल अपनी मनमर्जी की फीस वसूल रहे हैं।

हर साल फीस बढ़ोतरी और सिलेबस में प्राइवेट पब्लिशर्स की किताबें लगवाकर अभिभावकों की जेब को काटा जा रहा है। पहले स्कूल परिसरों में प्राइवेट पब्लिशर्स की किताबों की बिक्री से कमीशन का मोटा खेल चलता था। अब सेक्टरों में सड़क पर ओपन स्टाल व एक स्पेशल बुक शॉप के जरिए कमीशन का खेल जारी है। जबकि नियमों के अनुसार एनसीईआरटी की पुस्तकों से बच्चों को पढ़ाना होता है, लेकिन निजी स्कूल एनसीईआरटी की पुस्तकों को नकारते हुए प्राइवेट पब्लिशर्स की पुस्तकों को लागू करते हैं। इसके अलावा खर्च बढ़ने के नाम पर हर साल फीस वृद्धि कर दी जाती है। संघ की शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए शिक्षा विभाग ने निजी स्कूलों पर शिकंजा कसने की कार्रवाई शुरू कर दी है। मीटिंग में डीईईओ व कार्यकारी डीईओ राजपाल सिंह ने अभिभावक एकता संघ को आश्वस्त किया कि पेरेंट्स के साथ गलत नहीं होने देंगे। नियमों के खिलाफ फीस बढ़ोतरी करने वाले स्कूल व प्राइवेट पब्लिशर्स की पुस्तकें लगाने वाले स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

करनाल. लघु सचिवालय में अभिभावक एकता संघ के पदाधिकारियों के साथ बैठक में विचार-विमर्श करते हुए शिक्षा विभाग के अधिकारी।

नाजायज फीस बढ़ाने वाले स्कूलों पर हाेगी कार्रवाई
जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से फार्म-6 को ऑनलाइन डाउन लोड करने की परमिशन लेने के लिए शिक्षा निदेशालय को पत्र भेजा गया है। फिलहाल स्कूलों में ऑनलाइन फार्म-6 डाउन लोड नहीं हो रहे हैं। फार्म-6 को डाउन लोड करके स्कूलों की फीस बढ़ोतरी को चेक किया जाएगा, जिन स्कूलों की फीस बढ़ोतरी नाजायज मिलेगी उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। अभिभावक एकता संघ ने कहा कि जो स्कूल फार्म-6 में खुद प्रोफिट दर्शा रहे हैं उन स्कूलों की फीस बढ़ोतरी को प्राथमिक जांच में ही तुरंत रद्द कर देना चाहिए।

मंडल कमिश्नर के सामने उठेगा ऑडिट का मुद्दा
प्राइवेट पब्लिशर्स की किताबों से मोटा कमीशन कमाने की अभिभावक एकता संघ की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए कार्यकारी जिला शिक्षा अधिकारी ने प्रत्येक ब्लॉक में कमेटी गठित करने का निर्णय सुनाया। इस कमेटी में अभिभावकों को भी शामिल किया जाएगा। जो कि बच्चों के बस्ते चेक करेगी कि किन स्कूलों ने नाजायज तौर पर प्राइवेट पब्लिशर्स की पुस्तकें लगाई हुई हैं। संघ ने कहा कि जो स्कूल कहते हैं कि वे लाॅस में हैं उनका ऑडिट कराने का मुद्दा मंडल कमिश्नर के सामने अगले सप्ताह होने वाली मीटिंग में उठाया जाएगा। सरकारी नियमों के अनुसार हर साल कम से कम पांच प्रतिशत स्कूलाें का ऑडिट किया जा सकता है।

अभिभावक बोले-बच्चे ट्यूशन सेंटरों पर पढ़ने काे मजबूर
नियमों के अनुसार स्कूलों को एक शैक्षणिक सत्र में 240 दिन स्कूल लगाना होता है, लेकिन स्कूल सिर्फ 180 दिन ही स्कूल लगाते हैं। अभिभावकों के अनुसार बच्चे ट्यूशन सेंटरों पर पढ़ने काे मजबूर होते हैं। अभिभावक एकता संघ ने कहा कि जो भी निजी स्कूल 134ए के तहत बच्चों को दाखिला देने में आनाकानी करेगा, उनके खिलाफ कार्रवाई की मांग करेंगे। हुडा सेक्टरों में बने स्कूलों को 20 प्रतिशत और अन्य स्कूलों को 10 प्रतिशत बच्चों को नि:शुल्क दाखिला देना होगा।

शिकायत को लेकर कमेटी गठित की जा रही है
नाजायज फीस वृद्धि की शिकायत को लेकर कमेटी गठित की जा रही है, जो फार्म-6 से डाटा लेकर स्कूलों की फीस की जांच करेगी। प्राइवेट पब्लिशर्स की किताबों की जांच के लिए प्रत्येक ब्लॉक में कमेटी गठित की जाएगी, जिसमें अभिभावक भी शामिल रहेंगे। 134ए के तहत प्रत्येक पात्र विद्यार्थी को दाखिला दिलाया जाएगा। दाखिला करवाने में आनाकानी करने वाले स्कूलों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। -राजपाल सिंह, डीईईओ एवं कार्यकारी डीईओ, करनाल।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें